इंदौर : मध्य प्रदेश के इंदौर जिले में शुक्रवार को एक दर्दनाक हादसे में कार में फंसी दो लड़कियों समेत तीन बच्चों की दम घुटने से मौत हो गई. ये बच्चे सगे भाई-बहन थे. सांवेर पुलिस थाने के एक अधिकारी ने बताया कि मृत बच्चों की शिनाख्त पूनम (6 साल), बुलबुल (4 साल) और प्रतीक (3 साल) के रूप में हुई है. Also Read - Coronavirus: इंदौर में ड्यूटी पर तैनात 3,000 पुलिसकर्मियों को परिवार से दूरी बनाए रखने की सलाह

पुलिस अधिकारी के मुताबिक तीनों बच्चे सुबह खेलने के लिए घर से बाहर निकले थे. पड़ोस के एक खाली भूखंड पर खड़ी कार का दरवाजा खुला देखकर वे खेलते-खेलते इसमें चले गए और कार का दरवाजा अंदर से बंद कर लिया. कार लॉक होने से बच्चे इसके अंदर फंस गए, वे करीब तीन घंटे तक कार में फंसे रहे और इसका दरवाजा खोल नहीं सके. यह कार खराब है और काफी समय से एक ही जगह पर खड़ी होने के कारण उस पर धूल की मोटी परत जम चुकी है. Also Read - इंदौर में कोरोना वायरस से पांच और लोग हुए संक्रमित, राज्य में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 20 हुई 

राह से गुजर रहे एक व्यक्ति की कार पर निगाह पड़ी. उसने बेसुध बच्चों को आस-पास के लोगों की मदद से बाहर निकालकर अस्पताल पहुंचाया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. पुलिस मामला दर्ज कर जांच में जुटी है. तीनों बच्चों के शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया है. Also Read - केंद्रीय मंत्री ने ईमानदारी से टैक्स भरने वाले उद्यमियों की रक्षा का दिया भरोसा, कहा- फर्जीवाड़ा रोकने की है जरूरत