भोपाल/ जबलपुर/ग्वालियर: मध्‍य प्रदेश(Madhya Pradesh) में ओटीटी प्‍लेटफार्म(OTT platfor) अमेजन प्राइम(Amazon Prime) पर आई  वेबसीरीज ”तांडव” (Tandav)के खिलाफ अलग- अलग दो शहरों में दर्ज की गईं हैं. इस बीच, मध्यप्रदेश विधानसभा के अस्थायी अध्यक्ष व BJP नेता रामेश्वर शर्मा ने भी महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर मुंबई में भाजपा के विधायक राम कदम की शिकायत पर तांडव के निर्माताओं के खिलाफ FIR दर्ज  कराने की मांग की है. Also Read - BJP की केंद्रीय चुनाव समिति की आज होने वाली मीटिंग रद्द, उम्‍मीदवारों की ल‍िस्‍ट का इंतजार

मध्यप्रदेश पुलिस MP POLICE ने अमेजन प्राइम वेब सीरीज ”तांडव” के निर्माताओं के खिलाफ जबलपुर एवं ग्वालियर में दो प्राथमिकी दर्ज की हैं. पुलिस ने बताया कि समाज के विभिन्न वर्गों के बीच कथित रूप से आपसी वैमनस्य को बढ़ावा देने और लोगों की धार्मिक भावनाओं को आहत करने के आरोप में ये एफआईआर दर्ज की गईं हैं. Also Read - असम की 92 सीटों पर भाजपा उतारेगी अपने उम्मीदवार? आज फिर होगी केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक

जबलपुर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एएसपी) अमित कुमार ने बुधवार को बताया कि वेब सीरीज ”तांडव” के निर्देशक और अन्य के खिलाफ समाज के विभिन्न धार्मिक समूहों के बीच वैमनस्य को बढ़ावा देने और धार्मिक भावनाओं को आहत करने के आरोप में पहली प्राथमिकी दर्ज की गई. प्राथमिकी में दर्ज शिकायत की पुलिस जांच कर रही है. Also Read - Kerala Election: क्या मेट्रोमैन Sreedharan नहीं होंगे केरल में CM पद के उम्मीदवार? जानें केंद्रीय मंत्री ने क्या कहा....

वहीं, इस मामले में दूसरी प्राथमिकी हिंदू महासभा के कार्यकर्ता लालजी शर्मा ने बुधवार को ग्वालियर पुलिस की अपराध शाखा में वेब सीरीज के निर्देशक अली अब्बास, निर्माता हिमांशु कृष्ण मेहरा और लेखक गौरव सोलंकी पर धारा 153 ए, 505 (1) व 505 (2) के तहत मामला दर्ज करके कराई है.

जबलपुर के एएसपी ने कहा कि मंगलवार रात को जबलपुर के ओमती पुलिस स्टेशन में धीरज ज्ञानचंदानी ने ‘तांडव ‘ के निर्देशक अली अब्बास, लेखक गौरव सोलंकी और अन्य कलाकारों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है.’ उन्होंने बताया कि वेब सीरीज के निर्देशकों और अन्य के खिलाफ आईपीसी की धारा 153-ए (दुश्मनी को बढ़ावा देना), 295-ए (जानबूझकर और दुर्भावनापूर्ण कृत्य, धार्मिक भावनाओं को नाराज करने के उद्देश्य से) और 505 (2) के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है. जबलपुर के एएसपी ने कहा कि शिकायतकर्ता से इस बारे में तथ्य प्रस्तुत करने के लिए कहा गया था कि कैसे किसी समाज की धार्मिक भावनाओं को कथित तौर पर वेब श्रृंखला “तांडव” के माध्यम से चोट पहुंचाई गई.

दूसरी ओर एमपी विधानसभा के प्रोटेम स्‍पीकर रामेश्वर शर्मा ने भोपाल में बुधवार को कहा कि उन्होंने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर तांडव के निर्माताओं के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने की मांग की है. शर्मा ने कहा, ”महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को शिवसेना और बाला साहेब ठाकरे की विरासत को आगे ले जाना चाहिए, चाहे उन्होंने किस भी तरह से वहां सरकार बनाई हो. मध्यप्रदेश और उत्तर प्रदेश में इस मामले में प्राथमिकी दर्ज की गई है महाराष्ट्र सरकार को भी भाजपा विधायक राम कदम की शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज करनी चाहिए.”

इससे पहले, सोमवार को मध्यप्रदेश के मंत्री विश्वास सारंग और राज्य विधानसभा के अस्थायी अध्यक्ष रामेश्वर शर्मा ने सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से हिंदू देवी-देवताओं का उपहास उड़ाने के आरोप में अमेजन प्राइम वीडियो की सीरीज ‘ तांडव ‘ पर प्रतिबंध लगाने की अपील की थी.

मुंबई से भाजपा सांसद मनोज कोटक और मुंबई में ही पार्टी के विधायक राम कदम भी इस वेब सीरीज को लेकर आपत्ति जता चुके हैं.

अभिनेता सैफ अली खान, डिंपल कपाड़िया, सुनील ग्रोवर, तिग्मांशु धूलिया, डिनो मोरिया, कुमुद मिश्रा, मोहम्मद जीशान अयूब, गौहर खान और कृतिका कामरा अभिनीत ‘तांडव’ का कुछ दिन पहले ही अमेजन प्राइम ओटीटी पर प्रीमियर हुआ.