इंदौर: मध्यप्रदेश के कुख्यात व्यापमं घोटाले के दो व्हिसलब्लोअर 28 नवंबर को होने वाले विधानसभा चुनावों में सत्तारूढ़ भाजपा के कब्जे वाली अलग-अलग सीटों पर बतौर उम्मीदवार किस्मत आजमा सकते हैं. दोनों व्यक्ति अपनी चुनावी दावेदारी के संबंध में सोशल मीडिया पर अभियान चला रहे हैं. Also Read - शराब की वजह से नॉर्थ ईस्ट में ढह गया कांग्रेस का आखिरी किला?

Also Read - इंग्लैंड में कर रहीं थीं जॉब, चुनाव लड़ने लौटीं भारत, दोनों बहनों को 4 सीटों पर मिले सिर्फ 1 हजार वोट

सीएम की रेस में विश्वजीत प्रताप सिंह राणे? कहा- राहुल गांधी सुन लें, गोवा में कांग्रेस को बर्बाद कर दूंगा Also Read - Madhya Pradesh Election Results: ग्वालियर ग्रामीण, ग्वालियर, ग्वालियर ईस्ट, ग्वालियर दक्षिण, भितरवार, दबरा, करेरा, पोहारी में जारी है वोटों की गिनती, देखें update

व्यापमं घोटाले का खुलासा करने वाले आरटीआई कार्यकर्ताओं में शामिल डॉ. आनंद राय व्यापमं घोटाले के एक अन्य व्हिसलब्लोअर आशीष चतुर्वेदी विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए अपनी दावेदारी कर रहे हैं.

सबरीमाला मंदिर विवाद: उदित राज बोले- पहली बार महिलाएं कह रही हैं हमें गुलाम बनाओ, हम पुरुषों से कमतर हैं

व्यापमं घोटाले का खुलासा करने वाले आरटीआई कार्यकर्ताओं में शामिल डॉ. आनंद राय ने बुधवार को को बताया, ”मैं इंदौर के विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-पांच से चुनाव लड़ने पर विचार कर रहा हूं.” उन्होंने सूबे में सत्तारूढ़ भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा, “व्यापमं घोटाले के कई पीड़ितों को अब तक इंसाफ नहीं मिला है. करोड़ों रुपए के इस फर्जीवाड़े की कई बड़ी मछलियां अब भी जांच एजेंसियों की गिरफ्त से बाहर हैं. मैं इन हालात में बदलाव के लिए सियासत में आना चाहता हूं.”

राहुल गांधी के मंदिर दर्शनों में भी सीनियर नेता दिग्विजय सिंह को क्यों नहीं मिल रही है कोई जगह?

राय, इंदौर के जिला अस्पताल में मेडिकल अधिकारी के रूप में प्रदेश सरकार की सेवा में पदस्थ हैं. उनकी जिस इंदौर-पांच सीट पर नजर है, उस पर वर्ष 2013 के पिछले विधानसभा चुनावों में वरिष्ठ भाजपा नेता और प्रदेश के पूर्व मंत्री महेंद्र हार्डिया ने 14,418 वोटों से जीत हासिल की थी. कांग्रेस उम्मीदवार पंकज संघवी उनके नजदीकी प्रतिद्वंद्वी थे.

राजस्थान: एंटी इनकंबेंसी से बचने के लिए 200 में से 100 सीटों पर नए चेहरे उतार सकती है बीजेपी

इस बीच, व्यापमं घोटाले के एक अन्य व्हिसलब्लोअर आशीष चतुर्वेदी (28) ने बताया कि वह ग्वालियर (पूर्व) सीट से विधानसभा चुनाव लड़ने के बारे में अपने हितैषियों से राय-मशविरा कर रहे हैं.

चतुर्वेदी ने कहा, “व्यापमं घोटाला सूबे के लोगों की शिक्षा, रोजगार और स्वास्थ्य सरीखी बुनियादी सुविधाओं को प्रभावित करने वाला मामला है. इस घोटाले की उचित जांच के लिये मैं सरकार से लेकर जांच एजेंसियों तक अपनी बात रख चुका हूं. लेकिन रसूखदार लोग जांच की आंच से अब तक बचे हैं. अब मैं इस मामले को मतदाताओं के बीच ले जाना चाहता हूं.”

सीनियर बीजेपी नेता और प्रदेश की मौजूदा नगरीय प्रशासन एवं आवास मंत्री माया सिंह ने वर्ष 2013 के पिछले लोकसभा चुनावों में ग्वालियर (पूर्व) क्षेत्र में महज 1,147 वोटों के अंतर से जीत हासिल की थी. कांग्रेस प्रत्याशी मुन्नीलाल गोयल उनके नजदीकी प्रतिद्वंद्वी थे.