उज्जैन (मध्य प्रदेश): उज्जैन जिला चिकित्सालय के सिविल सर्जन का कथित तौर पर एक सहकर्मी महिला को ‘किस’ करने का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है. महिला अस्पताल की ही नर्स बताई जा रही है. मामला सामने आने के बाद डॉक्टर को पद से हटा दिया गया. उज्जैन जिले के कलेक्टर शशांक मिश्रा ने बताया, ‘किस करने जो मामला आया है, वह किसी अधिकारी के लिए उचित नहीं है.

कलेक्टर शशांक मिश्रा ने बताया कि मामले की गंभीरता की देखते हुए मैंने जिला चिकित्सालय में पदस्थ सिविल सर्जन डॉ राजू निदारिया को पद से हटा दिया है.’ उन्होंने कहा, ‘उनके स्थान पर डॉ. पीएन वर्मा को नियुक्त किया गया है.’ मिश्रा ने बताया, ‘मैंने निदारिया को नोटिस जारी कर दिया है. वह पिछले दो दिन से छुट्टी पर हैं. उनका जवाब आने के बाद मैं मामले में आगे की कार्रवाई करूंगा.’ जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मोहन मालवीय ने बताया कि संभागीय आयुक्त इस घटना की जांच के आदेश देंगे.

#MeToo: राजकुमार हिरानी पर महिला असिस्टेंट के यौन उत्पीड़न का आरोप, सफाई में ये कहा…

सूत्रों के अनुसार इस वीडियो में जो महिला नजर आ रही है, वह नर्स के पद पर काम करती है और प्रतीत होता है कि यह वीडियो जिला चिकित्सालय के आपरेशन थियेटर में बनाया गया है. जब मालवीय ने सवाल किया गया कि क्या यह वीडियो आपरेशन थियेटर में बनाया गया है, तो उन्होंने इस पर कोई टिप्पणी करने से इंकार कर दिया. इसी बीच, पुलिस ने बताया कि इस संबंध में अब तक किसी ने कोई शिकायत दर्ज़ नहीं कराई है.