इंदौर (मध्यप्रदेश): सरकारी खजाने में ईमानदारी से कर जमा कराने वाले उद्यमियों के हितों की रक्षा का भरोसा दिलाते हुए वित्त और कॉर्पोरेट कार्य राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने मंगलवार को जोर देकर कहा कि कर अदायगी में फर्जीवाड़ों पर रोक लगाने की बहुत बड़ी आवश्यकता है. ठाकुर ने यहां सामाजिक संस्था “सार्थक” द्वारा आयोजित रोजगार मेले में अपने संबोधन में कहा, “सरकार ने उद्यमियों पर विश्वास किया है. उद्यमियों को पहले अपनी कम्पनी के पंजीकरण में दो-दो महीने लगते थे, जबकि अब वे केवल 24 घंटे में अपनी कम्पनी पंजीकृत करा सकते हैं. लेकिन कुछ लोग फर्जीवाड़ा करके इनपुट टैक्स क्रेडिट या टैक्स रिफंड लेने का काम करते हैं जिससे ईमानदार उद्यमियों को बहुत नुकसान होता है. लिहाजा इन फर्जीवाड़ों पर रोक लगाने की बहुत बड़ी आवश्यकता है.” Also Read - Coronavirus: इंदौर में ड्यूटी पर तैनात 3,000 पुलिसकर्मियों को परिवार से दूरी बनाए रखने की सलाह

अनुराग ठाकुर ने कहा, “मैंने आयकर और केंद्रीय माल एवं सेवा कर (सीजीएसटी) विभागों के अफसरों से दोबारा कहा है कि किसी भी उद्यमी को प्रताड़ित किये जाने की आवश्यकता नहीं है.” ठाकुर ने बताया कि पिछले दो महीनों के दौरान “सबका विश्वास योजना” के जरिये अप्रत्यक्ष करों की अदायगी से जुड़े विवादों के 95 प्रतिशत से ज्यादा लम्बित मुकदमों का निपटारा कर दिया गया है जिससे सरकारी खजाने में करीब 40,000 करोड़ रुपये जमा हुए हैं. वित्त और कॉर्पोरेट कार्य राज्य मंत्री ने उम्मीद जतायी कि एक फरवरी को पेश आम बजट में घोषित प्रत्यक्ष कर विवाद समाधान योजना “विवाद से विश्वास” के तहत आने वाले दिनों में आयकर के 90 प्रतिशत से ज्यादा लम्बित मुकदमों का निपटारा हो जायेगा. Also Read - इंदौर में कोरोना वायरस से पांच और लोग हुए संक्रमित, राज्य में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 20 हुई 

उन्होंने बताया कि विभिन्न न्यायाधिकरणों में अकेले मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ क्षेत्र के आयकर विवादों से संबंधित 41,000 से ज्यादा मुकदमे लम्बित हैं जिनमें सरकार की हजारों करोड़ रुपये की लेनदारी बनती है. ठाकुर ने यह भी कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार खासकर युवाओं की भागीदारी से देश को वर्ष 2024-25 तक 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का महत्वाकांक्षी लक्ष्य हासिल करके रहेगी. कार्यक्रम के बाद मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि उन्हें पूरा भरोसा है कि भारतीय अर्थव्यवस्था लगातार अच्छा प्रदर्शन करेगी, क्योंकि सरकार ने आम बजट में औद्योगिक निवेश को बढ़ावा देने समेत कई कदम उठाये हैं. उन्होंने कहा ‘‘इसके साथ ही, पांच लाख रुपये तक की सालाना कमाई वाले लोगों को आयकर में बड़ी राहत दी गयी है जिससे उनकी बचत के साथ खरीद क्षमता भी बढ़ेगी. ’’ Also Read - केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर, MP प्रवेश वर्मा के खिलाफ FIR दर्ज कराने को लेकर 2 मार्च को फैसला देगी कोर्ट