मध्य प्रदेश के डिंडौरी जिले में नर्मदा सेवा यात्रा में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल हुए. इस कार्यक्रम के दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ ने नर्मदा योजना को लेकर इस पहल की सराहना की और शिवराज सिंह चौहान की जमकर तारीफ की. इस दौरान उन्होंने कहा कि नमामि गंगे हमारे सामने एक बड़ी चुनौती है लेकिन नर्मदा सेवा यात्रा की शुरुवात से प्रेरणा मिल रही है.Also Read - वरुण गांधी ने सीएम योगी को लिखी चिट्ठी, गन्ने की कीमत दोगुनी करने की मांग, बोले- उम्मीद है भूमिपुत्रों की बात जरूर सुनी जाएगी

सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपने भाषण के दौरान कहा कि प्रधानमंत्री ने नमामि गंगे परियोजना के लिए पूरी ताकत लगा दी है और गंगा को बचाने अभियान चलाकर कोई कसर नहीं छोड़ी है. वहीं शिवराज सिंह चौहान ने कोई कसर नही छोड़ी है नर्मदा को बचाने के लिए. आज मैं यही सिखने आया हूं. उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश मिलकर काम करेंगे. Also Read - UP: राष्‍ट्रपति ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में 2300 एडवोकेट चेम्‍बर्स, पार्किंग और यूपी नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी का शिलान्यास किया

Also Read - Supertech Emerald Court Case: कैसे टूटे नियम-कानून? अधिकारियों पर हो सख्त कार्रवाई, सीएम योगी ने जारी किए आदेश

योगी आदित्यनाथ ने कहा आज लोग गंगा, जमुना और सरस्वती तीनों नदियों के संगम को देखने आते हैं लेकिन उन्हें सरस्वती नहीं दिखती. लेकिन अब वैज्ञानिक और विशेषज्ञ सरस्वती की खोज करने में लगे हैं. इस दौरान योगी ने शिवराज सिंह चौहान की जमकर तारीफ़ की और कहा पहले एमपी की गिनती एक बीमारू राज्य के तौर पर होती थी. लेकिन आज यह देश में सबसे ज्यादा गेहूं उत्पादन करने वाला राज्य बन गया है. अब हम मध्य प्रदेश से कई चीजें सीख रहे हैं और हमने अपने अधिकारियों को भेजा है.