नई दिल्ली: भारत में गर्मी ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है. देश के कई हिस्सों में 45 डिग्री से ज्यादा पारा रहा. गर्मी आते ही देश के कई इलाकों में एक बार फिर से पानी की समस्या ने विकराल रूप धारण कर लिया है. इन दिनों मध्य प्रदेश के कई गांव जल संकट से जूझ रहे हैं. लोगों को पानी के लिए हजारो मील की दूरी तय करनी पड़ रही है.Also Read - Madhya Pradesh Orange Alert Zone List: मध्य प्रदेश में भारी वर्षा को लेकर 15 जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी, यहां देखें नाम

एक तरफ जनता कोरोना और लॉकडाउन की समस्या का सामना कर रही है तो वहीं छतरपुर के पाटापुर गांव के लोगों को इसके साथ साथ पानी की किल्लत का भी सामना करना पड़ रहा है. आलम यह है कि लोगों को एक बाल्टी पानी के लिए पहाड़ी रास्तों से मीलों की दूरी तय करना पड़ रहा है. वहीं जिला पंचायत सीईओ का कहना है कि अधिकारियो से बात हुई है जल्द ही इस समस्या को हल कर लिया जाएगा. Also Read - Mandir Ka Video Viral: सावन की पहली सोमवारी पर उज्जैन के महाकाल मंदिर में टला बड़ा हादसा, यूं मची थी भगदड़

Also Read - Madhya Pradesh में दो रोड एक्‍सीडेंट: भोपाल और सिंंगरौली में 8 लोगों की मौत, 2 घायल

इलके के ज्यादातर नल और कुएं पूरी तरह से सूख चुके हैं. मई में ही लोगों को पानी की दिक्कतोंका सामना करना पड़ रहा है. छतरपुर में गर्मी के आते सभी जल योजनाए ठप हो गई है. जहां नल और नलकूप पानी का सहारा थे उसमें भी वाटर लेवेल नीचे जाने से पानी आना बंद हो गया है.

स्थिति कितनी भयावह है इसका अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि लोग पाहाड़ियों से निकलने वाले जल को भी इकट्ठा करने लगे हैं. प्रशासन का कहना है कि अधिकारियों से इस बारे में रिपोर्ट तैयार करने के लिए कहा गया है और जल्द ही पानी के संकट को खत्म किया जाएगा.