भोपाल: मध्य प्रदेश के शाजापुर में शनिवार को महाराणा प्रताप जयंती के मौके पर राजपूत समाज की ओर निकाली गई शौर्य यात्रा पर पथराव के बाद हुए उपद्रव में आगजनी और मारपीट हुई है. इस उपद्रव में 6 वाहनों को जला दिया गया और करीब 12 से ज्यादा वाहनों में तोड़फोड़ की गई. इस दौरान करीब आधा घंटे हुए पथराव से तीन पुलिसकर्मियों समेत करीब 10 लोग घायल हुए हैं. स्थिति पर नियंत्रण के लिए पुलिस ने आंसू गैस के कई गोले दागे. इसके बाद शहर में धारा 144 लागू कर दी गई. पुलिस सीसीटीवी कैमरों के फुटेज के जरिए उपद्रवियों की पहचान कर रही है.

पुलिस के मुताबिक शनिवार को दोपहर बाद प्रताप जयंती का जुलूस नई सड़क इलाके में पहुंचा भूतेश्वर महादेव मंदिर के पास ईद के चलते एक पंडाल लगा हुआ था और वहां डीजे बज रहा था. इसे बंद कराने को लेकर दो पक्षों के बीच बहस हुई. पुलिस अधिकारी ने समझाने की कोशिश की, लेकिन इसी दौरान पंडाल की ओर खड़े कुछ लोगों ने पत्थर चलाए. इसके बाद जुलूस में शामिल लोगों की ओर से भी पथराव शुरू हो गया भगदड़ मच गई.

उपद्रवी आधा घंटे तक पत्थरबाजी, आगजनी और नंगी तलवारें लहराते हुए उपद्रव करते रहे. आसपास के मकानों से पथराव होता रहा. इस दौरान उपद्रवियों ने 6 वाहनों को आग लगा दी और करीब 12 से ज्यादा वाहनों में तोड़फोड़ की.पुलिस ने आंसू गैस के करीब 15 से अधिक गोले दागकर भीड़ को तितर-बितर किया और उपद्रवियों को पकड़- पकड़ कर पुलिस वाहनों में बिठाना शुरू किया. इसके बाद स्थिति काबू में आई.

(इनपुट- एजेंसी)