violence during by-polls in Morena, Madhya Pradesh: मध्य प्रदेश के 19 जिलों के 28 विधानसभा क्षेत्रों में उपचुनाव के लिए मतदान चल रहा है, लेकिन मुरैना जिले में हिंसक घटना सामने आई है. मुरैना के एसपी ने इस बात की पुष्‍ट‍ि की है. उन्‍होंने कहा-हमें मतदान केंद्रों से दूर कुछ स्थानों पर हिंसा की खबरें मिलीं हैं. Also Read - Corona warrior डॉक्‍टर शुभम उपाध्‍याय के परिवार को 50 लाख रुपए देगी एमपी सरकार: सीएम

मध्य प्रदेश के मुरैना में उपचुनाव के दौरान हिंसा पर मुरैना के एसपी अनुराग सुजानिया ने कहा, हमें मतदान केंद्रों से दूर कुछ स्थानों पर हिंसा की खबरें मिलीं हैं. इन घटनाओं ने मतदान प्रभावित नहीं हुआ है. हम गोलीबारी के वीडियो की जांच कर रहे हैं और गोलीबारी की एक घटना में कुछ लोगों को गिरफ्तार किया है. Also Read - मध्य प्रदेश में मंत्रियों को अब हर माह देना होगा रिपोर्ट कार्ड, रेटिंग भी तय होगी, शिवराज सरकार का नया नियम

ग्वालियर-चंबल इलाके के मुरैना जिले के सुमावली विधानसभा क्षेत्र में सुबह से ही तनाव था और कई स्थानों पर गोलियां चलने के साथ वाहनों को आग लगाए जाने की वारदात हुई है. इसी तरह भिंड के मेहगांव में भी विवाद की स्थितियां बनी. पुलिस बल ने गोहद के तीन उम्मीदवारों को नजरबंद किया है. इसी तरह कई उम्मीदवारों के कई नेताओं को हिरासत में लिया गया है. Also Read - भयावह: शख्स ने पूरे परिवार को कमरे में बंद कर जिंदा जलाया, खुद भी फांसी पर झूला

मध्य प्रदेश के 28 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान का दौर जारी है. छिटपुट हिंसा के बीच दोपहर तीन बजे तक 56.72 फीसदी मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर चुके थे. राज्य में एक बजे तक 42.71 प्रतिशत मतदान हो गया था। अपरान्ह 11 बजे तक 26.57 प्रतिशत मतदाता मतदान कर चुके थे। पहले दो घंटों में 11 फीसदी से ज्यादा मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया था, कई मतदान केंद्रों पर तीन बजे के बाद भी कतारें देखी जा रही है.

बता दें कि इनमें मध्य प्रदेश की 28 विधानसभा सीटें के लिए आज मंगलवार को मतदान हो रहा है. जहां अपनी सरकार बचाने के लिए कांग्रेस के साथ भाजपा का कड़ा मुकाबला है. कोविड-19 महामारी के कारण उपचुनावों के लिए व्यापक प्रबंध किए गए हैं. इन प्रबंधों में चुनाव कर्मियों के लिए निजी सुरक्षा उपकरण (पीपीई), भीड़ एकत्र होने से बचने के लिए अधिक मतदान केन्द्र, थर्मल स्क्रीनिंग, सैनिटाइजर, मतदाताओं के लिए मास्क एवं दस्ताने और सामाजिक दूरी सुनिश्चित करना शामिल है.