Viral Video: कोरोना के साथ ब्लैक फंगस बीमारी लोगों को भावनात्मक रूप से तोड़ दिया है. इंदौर में एक ऐसा ही मामला सामने आया है जहां एक युवा महिला ब्लैक फंगस से पीड़ित पति के लिए सीएम शिवराज सिंह से इंजेक्शन की गुहार लगाई है. इसके साथ ही कहा है कि अगर उसे आज इंजेक्शन नहीं मिलते हैं तो वह आत्महत्या कर लेगी. महिला ने ये बातें एक वीडियो जारी कर कहा है. उनका ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. Also Read - Jharkhand News: सीएम हेमंत सोरेन का बड़ा ऐलान, राज्य में Black Fungus महामारी घोषित

दरअसल, एक निजी अस्पताल में भर्ती 40 वर्षीय व्यक्ति की पत्नी ने मंगलवार को सोशल मीडिया पर वीडियो जारी किया. महिला ने वीडियो में धमकी दी कि अगर उसके पति को आज जरूरी इंजेक्शन नहीं मिले, तो वह इसी अस्पताल की छत से कूदकर जान दे देगी. Also Read - केंद्र ने ब्लैक फंगस की दवा पर टैक्स हटाया, वित्त मंत्री सीतारमण बोलीं- कोविड टीकों पर 5% GST जारी रहेगी

यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. महिला इसमें कहती सुनाई पड़ रही है, “मैं बॉम्बे हॉस्पिटल से बोल रही हूं. मरीज (महिला का 40 वर्षीय पति) की आंख में दर्द हो रहा है. उसका पूरा जबड़ा दर्द कर रहा है. वह मेरे पति हैं और ब्लैक फंगस के इलाज के लिए भर्ती हैं. मैं इस हालत में उन्हें कहां लेकर जाऊंगी? इंजेक्शन (एम्फोटेरिसिन-बी) अस्पताल में नहीं मिल रहे हैं और (अस्पताल के) बाहर भी नहीं मिल रहे हैं.” Also Read - हाईकोर्ट ने कहा- Black Fungus की दवा सभी को मिल रही है या नहीं, सभी राज्यों का ब्यौरा दे केंद्र सरकार

परेशान महिला ने वीडियो में भावुक लहजे में कहा, “अब मेरे पास क्या रास्ता होना चाहिए? मैं अपने पति को तिल-तिल तड़पते नहीं देख सकती. आप बताइए कि मुझे आगे क्या करना है? अगर मुझे आज इंजेक्शन नहीं मिलते हैं, तो मैं हॉस्पिटल की छत से कूदकर आत्महत्या कर लूंगी. मेरे पास और कोई रास्ता नहीं बचा है.”

महिला ने वीडियो में राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी और जिलाधिकारी मनीष सिंह को उनके पदनाम से संबोधित करते हुए कहा कि वे उसकी बात को गंभीरता से लें और ब्लैक फंगस संक्रमण के कारण अस्पतालों में भर्ती मरीजों को जरूरी इंजेक्शन उपलब्ध कराएं.

महिला के वायरल वीडियो पर बॉम्बे हॉस्पिटल के महाप्रबंधक राहुल पाराशर ने “पीटीआई-भाषा” से कहा,”हमने संबंधित महिला से बात कर उसे समझाया है. वह अभी परेशान है. उसके पति को एम्फोटेरिसिन-बी के 59 इंजेक्शन पहले ही लग चुके हैं. उसे इस दवा के और इंजेक्शनों की जरूरत है.”

पाराशर ने बताया कि उनके अस्पताल में एम्फोटेरिसिन-बी के इंजेक्शन फिलहाल उपलब्ध नहीं हैं. लिहाजा महिला के पति और ब्लैक फंगस के दूसरे मरीजों का अन्य फंगसरोधी दवाओं से इलाज किया जा रहा है.

महिला का वीडियो ऐसे वक्त वायरल हुआ है, जब ब्लैक फंगस के इलाज में आवश्यक एम्फोटेरिसिन-बी इंजेक्शनों की भारी किल्लत के चलते यहां मरीजों और उनके तीमारदारों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. इस सिलसिले में निजी अस्पतालों में भर्ती मरीजों की स्थिति भी बदतर है.

गौरतलब है कि म्यूकरमाइकोसिस को “ब्लैक फंगस” के नाम से भी जाना जाता है. कोरोना वायरस संक्रमण से उबर रहे और स्वस्थ हो चुके कुछ मरीजों में यह बीमारी मिल रही है.

(इनपुट-भाषा)