गढ़चिरौली. महाराष्ट्र के गढ़चिरोली जिले रविवार को सुरक्षाबलों ने हुई एक मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने 14 नक्सलियों को को ढेर कर दिया. ये मुठभेड़ गढ़चिरोली इटापल्ली में बोरीया वन क्षेत्र में हुई है. तलाशी अभियान अब भी चल रहा है. इस ऑपरेशन को C 60 कमांडो और महाराष्ट्र पुलिस ने मिलकर किया है. माना जा रहा है कि महाराष्ट्र में कि नक्सलियों के खिलाफ यह इस साल अब तक का सबसे बड़ा ऑपरेशन है. इससे पहले 2 मार्च में छत्तीसगढ़ में 10 नक्सली मारे गए थे. इनमें 6 महिला कमांडर भी मारी गई थीं. महाराष्ट्र के डीजीपी सतीश माथुर ने सी -60 की टीम को बधाई दी है. उन्होंने कहा,” हाल के दिनों में यह नक्सलियों के विरुद्ध एक बड़ा अभियान है.”

आईजी ने कहा- 14 नक्सली मारे. तलाशी अभियान जारी
पुलिस महानिरीक्षक शरद शेलार ने कहा, ”मुठभेड़ में 14 नक्सली मारे गए. तलाशी अभियान अब भी चल रहा है.” आईजी शेलार ने बताया कि गढ़चिरौली पुलिस की विशेष लड़ाकू इकाई सी -60 के कमांडो की एक टीम ने रविवार सुबह मुंबई से करीब 750 किलोमीटर दूर भामरगढ़ के तड़गांव जंगल में यह अभियान शुरू किया जो अब भी चल रहा है. उन्होंने बताया कि इस मुठभेड़ में मारे गए नक्सलियों में प्रतिबंधित संगठन के दो जिला स्तरीय कमांडर साईनाथ और साइनयू शामिल हैं.

तेलंगाना पुलिस ने छत्तसीगढ़ में घुसकर मारे थे 10 नक्सली
छत्तीसगढ़ के बीजापुर में बीते 2 मार्च को होली के दिन तेलंगाना पुलिस नेएनकाउंटर में 6 महिला कमांडर समेत 10 नक्सली मार गिराए थे. तेलंगाना पुलिस की ग्रेहाउंड्स फोर्स ने छत्तीसगढ़ राज्य की सीमा में 35 किमी अंदर घुसकर इस कार्रवाई को अंजाम दिया था.

महाराष्ट्र पुलिस ने कुछ दिन पहले मिली थी जानकारी
महाराष्ट्र पुलिस को कुछ समय पहले नक्सलियों के बड़े मूवमेंट की जानकारी मिली थी. इसके पहले बीते 17 अप्रैल को एक अधिकारी ने बताया कि पुणे पुलिस की अगुवाई में कई टीमों ने पुणे , मुंबई , नागपुर और गढ़चिरौली सहित राज्य के विभिन्न हिस्सों में सुबह से तलाशी अभियान चलाया था. कबीर कला मंच और रिपब्लिकन पैंथर जैसे संगठनों के समर्थकों के आवास और कार्यालय की बीते 17 अप्रैल को तलाशी ली थी. ऐसा शहरी इलाकों में नक्सली गतिविधियों से उनके संबंध के संदेह में किया गया था. (इनपुट एजेंसी)