Mumbai, rape case, POCSO, Mumbai Police : मुंबई में एक ऐसा वाकया आया है, जिसमें कोर्ट ने 16 साल की एक लड़की से रेप और प्रेग्‍नेंट करने के 25 साल के आरोपी को तब जमानत दे दी है, जब उसने अदालत को बताया कि वह पीड़िता से शादी करना चाहता है. यह मामला बीते बुधवार को तब सामनेे आया, जब कोर्ट ने  बाल यौन अपराध विशेष संरक्षण अधिनियम  (POCSO) एक्‍ट जैसी गंभीर आपराधिक धारा के तहत गिरफ्तार आरोपी को बेल दे दी.Also Read - Delhi, Mumbai में घटी कोरोना की रफ्तार, कर्नाटक में बड़ी संख्‍या में आए केस, देखें अपने राज्य का अपडेट

कोर्ट ने आरोपी को तब जमानत दी, जब उसने पाया कि पहले से शादीशुदा शख्‍स और नाबालिग लड़की बीच रिश्‍ते को लेकर ‘सहमति’ थी और यह भी पाया कि आरोपी उस नाबालिग लड़की से शादी की इच्‍छा रखता है, जो दो साल बाद अब बालिग हो चुकी है. Also Read - Mumbai Fire: मुंबई में भाटिया हॉस्पिटल के पास 20 मंजिला इमारत में भीषण आग, 6 की मौत, 28 घायल

दरअसल, इस मामले में शुरुआत में प्राथमिकी दर्ज कराने वाली पीड़ि‍ता की मां ने कोर्ट में एक हलफनामा पेश कर उसकी रिहाई का समर्थन किया था. मां ने अदालत को बताया था कि वह चाहती हैै क‍ि आरोपी उसकी बेटी से शादी करें, जिसने उसके बच्चे को जन्म दिया है. आरोपी ने यह दूसरी बार जमानत की अर्जी दायर की थी, क्योंकि कोर्ट ने पहले उसकी जमानत याचिका को खारिज कर दिया था. Also Read - अपने पुराने स्कूटर पर मुंबई की गलियां नापते थे Kapil Sharma, लोग हंसते थे फिर...बहुत कुछ है बताने को अभी

अभियोजन के मुताबिक, आरोपी पीड़िता लड़की के पिता से परिचित है और पीड़िता और पिता दोनों ने गर्भवती होने की बात को छिपाए रखा था.  यह आरोप लगाया गया कि जब नाबालिग लड़की ने आरोपी को अपनी प्रेग्‍नेंसी के बारे में बताया तो उसने धमकी दी कि पीड़िताअपने पिता को यह न बताए कि गर्भ में पल रहे बच्‍चे का  बाप वह है.

मां ने जब अपनी लड़की के शरीर में हो रहे बदलावों को देखा, तब उसे संदेह हुआ कि वह प्रेग्‍नेंट है. इसके बाद परिवार को आरोपी की पहचान का  पता चला. इसके बाद पीड़िता की मां ने एफआईआर दर्ज कराई. इस रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने आरोपी को पिछले साल अक्‍टूबर में गिरफ्तार किया था.