नई दिल्‍ली: देश में कोरोना वायरस की महामारी से बुरी तरह प्रभावित महाराष्‍ट्र में लगातार संक्रमित मरीजों और मौतों का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है. राज्‍य में आज बुधवार को कोरोना वायरस के 1495 नए मामले सामने आए हैं और इसी के साथ महाराष्‍ट्र में कोविड19 के कुल मरीजों की संख्‍या 25,922 हो गई है. राज्‍य में कोरोना वायरस ने 975 मरीजों की जान ले ली है. वहीं राज्‍य की राजधानी मुंबई में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 15747 पहुंच गया. Also Read - लॉकडाउन बढ़ने की बात सुन महिला ने खाया ज़हर, ससुराल से मायके न जा पाने से थी परेशान

महाराष्‍ट्र स्‍वास्‍थ्‍य विभाग (Maharashtra Health Department) के मुताबिक, आज महाराष्‍ट्र में कोविड19 के 1495 केस बढ़ गए और 54 मौतें दर्ज की गईं हैं. इससे कुल संक्रमितों की संख्‍या 25,922 हो गई है. अब तक कुल संक्रमितों में से 5,547 मरीज ठीक होने के बाद अस्‍पतालों से डिस्‍चार्ज किए जा चुके हैं. वहीं राज्‍य की राजधानी मुंबई में अब तक कोरोना वायरस के संक्रमण से बीमार हुए लोगों की संख्‍या 15747 हो गई है. महाराष्‍ट्र में कोरोना संक्रमण से हुई कुल मौतों के आधे से ज्‍यादा मृतक मुंबई के हैं. मुंबई में अब तक 596 लोगों की मौत हो चुकी है. Also Read - Lockdown 5.0: महाराष्ट्र सरकार ने लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ाया, पूरे राज्य में बंद रहेंगे धार्मिक स्थल, शॉपिंग मॉल

महाराष्ट्र मे 15 मई से घर पर शराब की आपूर्ति की व्यवस्था शुरू होगी
महाराष्ट्र में शराब की दुकानों पर लोगों की भीड़ रोकने के लिए 15 मई से घर पर शराब की आपूर्ति शुरू की जाएगी. राज्य के आबकारी विभाग ने बुधवार को इस संबंध में आदेश जारी किया. राज्य सरकार ने मंगलवार को शराब की घर पर आपूर्ति (होम डिलीवरी) की अनुमति दी थी. राज्य के आबकारी विभाग द्वारा जारी सरकारी आदेश के अनुसार दुकान मालिकों ने तैयारी के लिए कुछ और समय मांगा था इसलिए यह सेवा शुक्रवार से शुरू होगी.

एक व्यक्ति एक बार में 24 बोतल से अधिक शराब नहीं ले सकता है
आदेश में कहा गया कि राज्य भर में शराब की होम डिलीवरी शुक्रवार से शुरू होगी. संक्रमण से अप्रभावित कुछ इलाकों में दुकानें पहले ही खोल दी गई हैं , उन्हीं इलाकों में यह सेवा दी जाएगी. एक दुकान का मालिक शराब पहुंचाने के लिए 10 से अधिक व्यक्तियों को नियुक्त नहीं कर सकता है और एक व्यक्ति एक बार में 24 बोतल से अधिक शराब नहीं ले सकता है. उपभोक्ताओं को राहत प्रदान करते हुए, सरकार ने यह भी आदेश दिया कि दुकान मालिक बोतल पर छपे मूल्य से अधिक कीमत नहीं ले सकता.