मुंबई: साउथ मुंबई के परेल इलाके स्थित क्रिस्टल टावर में बुधवार सुबह लगी आग में 4 लोगों की मौत हो गई वहीं 16 के घायल होने की खबर है. दमकल विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि हिन्दमाता सिनेमा के पास स्थित 17मंजिला क्रिस्टल टावर की अलग-अलग मंजिलों से दर्जनों लोगों को सुरक्षित बचाया गया.अधिकारियों ने बताया कि आग पर काबू पा लिया गया है और अब ‘कूलिंग ऑपरेशन’ चल रहा है. मुंबई दमकल विभाग के प्रमुख पी. एस. रहांगदले ने बताया कि टावर की 12वीं मंजिल पर आग लगने की सूचना दमकल विभाग को सुबह आठ बजकर बत्तीस मिनट पर मिली. आग लगने के कारण उठा धुंआ तेजी से फैला और इमारत में रहने वाले लोग सीढ़ियों आदि पर फंस गये.

स्थानीय नगर निकाय की ओर से जारी एक बयान के अनुसार, धुंए की वजह से 16 लोग बीमार हो गए. उन्हें केईएम अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने दो लोगों को मृत घोषित कर दिया. दमकल विभाग नियंत्रण कक्ष के एक अधिकारी के अनुसार, धुंआ भवन की सीढ़ियों पर फैल गया. एहतियात के तौर पर लिफ्ट का प्रयोग नहीं किया गया. भवन के भीतर फंसे लोगों को निकालने के लिए दमकल विभाग ने विशेष सीढ़ियों का प्रयोग किया. उन्होंने बताया कि दस दमकल गाड़ियां, पानी के चार टैंकर, मुंबई पुलिस के अधिकारी मौके पर मौजूद हैं. उन्होंने कहा कि आग लगने का कारण जांच के बाद पता चलेगा.

केईएम हॉस्पिटल के डीन डॉक्टर अविनाश ए सुपे का कहना है कि 20 पीड़ितों को अस्पताल लाया गया. इनमें से चार लोगों की मौत हो गई. इनमें एक बुजुर्ग महिला और तीन पुरुष हैं. दो शवों की पहचान कर ली गई है. 16 लोगों की हालत स्थिर बनी हुई है. इनमें से 10 पुरुष और 6 महिलाएं हैं.

गौरतलब है कि जून के महीने में आरटीआई से मिली जानकारी में पता चला था कि मुंबई में पिछले 6 साल में आग की 29,140 घटनाएं रेकॉर्ड की गई हैं, जबकि इनमें मौत के मुंह में जाने वालों की संख्या 300 है. महाराष्ट्र अग्नि प्रतिबंधक व जीवरक्षक उपाय योजना अधिनियम 2006 के तहत, नियम का पालन कराने की जिम्मेदारी मुंबई फायर ब्रिगेड की है लेकिन पिछले 6 साल में मुंबई शहर में आग की घटनाओं की संख्या चौंका देने वाली हैं.