मुंबई: देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में मंगलवार को सुबह एक चार मंजिला बिल्‍ड‍िंग अचानक भरभराकर गिर गई, जिसमें 40 से 50 लोगों फंसे होने की आशंका है. यह हादसा मुंबई के डोंगरी इलाके में सुबह लगभग 11.45 बजे हुआ है. हादसे वाली बिल्‍ड‍िंग का नाम केसरबाई बिल्‍ड‍िंग है.आपदा प्रबंधन को टीम को इस हादसे के बारे में फोन पर जानकारी मिली. मुंबई में चार मंजिला इमारत गिरने के बाद नगर निकाय के अधिकारियों ने बताया कि 40 – 50 लोगों के फंसे होने की आशंका है, जिससे कम से कम दो लोगों की मौत हो गई जबकि तीन अन्य घायल हैं.

बीएमसी आपदा नियंत्रण विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि दक्षिणी मुंबई के डोंगरी क्षेत्र में मंगलवार को चार मंजिल की एक इमारत ढह गई, जिसके मलवे में लगभग 50 लोगों के फंसे होने की आशंका है. पांच एनडीआरएफ टीम और बीएमसी की डिसास्‍टर मैनेजमेंट सेल की टीमें दुर्घटनास्‍थल पर पहुंच गई हैं. टीमों ने राहत एवं बचाव कार्य शुरू कर दिया है. बड़ी संख्या में स्थानीय लोग भी बचाव कार्य में जुटे हैं और मलबा हटाने में मदद कर रहे हैं.

एम्बुलेंस मौके पर नहीं पहुंच पा रही है, उसे 50 मीटर की दूरी पर खड़ा करना पड़ा. इस इमारत का मालिकाना हक महाराष्ट्र आवास एवं विकास प्राधिकरण के पास है. संस्था के अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं.

बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) के आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ के एक अधिकारी ने बताया कि प्रारंभिक सूचना के अनुसार डोंगरी में टंडेल मार्ग पर स्थित भूतल के अतिरिक्त चार मंजिल वाली यह ‘केशरबाई बिल्डिंग’ सुबह करीब 11 बजकर 40 मिनट पर गिर गई.

अधिकारी ने बताया कि इमारत में रहने वाले करीब 40-50 लोगों के मलबे में फंसे होने की आशंका है. दमकल विभाग, मुंबई पुलिस और निकाय अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं. राहत एवं बचाव कार्य जारी है. बचाव कार्य में मदद के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की टीमें भी मौके पर पहुंच गईं हैं.

 

बता दें कि बीते रविवार की शाम हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले में इमारत गिरने से 14 लोगों की मौत हुई है. इसमें सेना के 13 कर्मियों और एक आम नागरिक समेत कुल 14 लोगों की मौत हो गई. यह इमारत नाहन-कुमारहट्टी सड़क पर स्थित थी जो रविवार शाम की भारी बारिश के बाद गिर गई थी, जिसमें एक रेस्त्रां भी था. इस घटना में 28 लोग घायल हुए थे, जिसमें सेना के 17 जवान और 11 आम नागरिक शामिल हैं. अधिकारियों ने बताया कि 13 जवानों के शव और एक आम नागरिक का शव मलबे से निकाला गया.  (इनपुट: एजेंसी)