मुंबई: शिवसेना के छह निवर्तमान मंत्री राज्य में कृषि संकट पर निवर्तमान मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस द्वारा बुधवार को बुलाई गई बैठक में शामिल हुए. शिवसेना के कोटे से मंत्री रामदास कदम ने कहा कि यह बैठक किसानों के मुद्दों के बारे में थी. उन्‍होंने कहा कि कल यह मुद्दा नहीं होना चाहिए कि शिवसेना किसानों की समस्याओं के लिए नहीं आई थी, इसलिए हमने इस बैठक में भाग लिया.

बता दें क‍ि बीजेपी और शिवसेना के अपने-अपने रुख पर अड़े रहने से राज्य में नई सरकार का गठन अधर में लटका है. दोनों ही दल मुख्यमंत्री पद को लेकर अपने-अपने रुख पर कायम हैं.

इस संबंध में एक अधिकारी ने बताया कि एकनाथ शिंदे और रामदास कदम सहित शिवसेना के मंत्री दक्षिणी मुंबई स्थित सहयाद्रि राज्य अतिथिगृह में बुलाई गई बैठक में पहुंचे.

शिवसेना के कोटे से मंत्री रामदास कदम ने बताया कि यह बैठक किसानों के मुद्दों के बारे में थी. उन्‍होंने कहा कि कल यह मुद्दा नहीं होना चाहिए कि शिवसेना किसानों की समस्याओं के लिए नहीं आई थी, इसलिए हमने इस बैठक में भाग लिया. हमने मांग की कि किसानों को 25,000 रुपए प्रति एकड़ मुआवजा तुरंत दिया जाना चाहिए.

बता दें कि पिछले 24 अक्टूबर को आए राज्य विधानसभा चुनाव के परिणाम में किसी भी दल को बहुमत नहीं मिला. भाजपा और शिवसेना (राजग गठबंधन) को बहुमत के जादुई आंकड़े 145 से कहीं अधिक 161 सीट मिली हैं लेकिन दोनों दलों के बीच मुख्यमंत्री पद को लेकर विवाद चला आ रहा है.

चुनाव में 105 सीटों के साथ भाजपा सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है. शिवसेना को 56, राकांपा को 54 और कांग्रेस को 44 सीट मिली हैं.

शिवसेना के कोटे से मंत्री रामदास कदम ने बताया कि यह बैठक किसानों के मुद्दों के बारे में थी. उन्‍होंने कहा कि कल यह मुद्दा नहीं होना चाहिए कि शिवसेना किसानों की समस्याओं के लिए नहीं आई थी, इसलिए हमने इस बैठक में भाग लिया. हमने मांग की कि किसानों को 25,000 रुपए प्रति एकड़ मुआवजा तुरंत दिया जाना चाहिए.