Maharashtra News: दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने छह आतंकियों को गिरफ्तार किया है, पूछताछ में पता चला है कि इनमें से दो आतंकी हाल ही में पाकिस्तान से प्रशिक्षण लेकर लौटे हैं. ये आतंकी दिल्ली, महराष्ट व यूपी को दहलाने की साजिश रच रहे थे. इनकी गिरफ्तारी से महाराष्ट्र में हलचल तेज हो गई है. आतंकियों की गिरफ्तारी के साथ ही पाक खुफिया एजेंसी आईएसआई व अंडरवर्ल्ड की सांठगांठ एक बार फिर से सामने आई है. आईएसआई ने अंडरवर्ल्ड के साथ मिलकर देश को दहलाने की साजिश की नई रणनीति अपनाई है.Also Read - Mumbai Corona News: क्या मुंबई ने जीत ली कोरोना से जंग? सीरो सर्वे में 86 फीसदी आबादी में एंटीबॉडी विकसित

पकड़े गए ये आतंकी, अंडरवर्ल्ड से जुड़े हैं तार Also Read - Maharashtra News: महाराष्ट्र में क्या फिर साथ आने वाले शिवसेना-BJP? उद्धव ठाकरे के इस बयान से लग रहीं अटकलें...

सबसे पहले अंडरवर्ल्ड से जुड़े सोशल नगर, मुंबई महाराष्ट्र निवासी जान मोहम्मद शेख उर्फ समीर कालिया (47) को राजस्थान के कोटा के पास से गिरफ्तार किया गया था. इसके बाद ओसामा उर्फ समी (22) को ओखला, दिल्ली से पकड़ा गया. फिर मोहम्मद अबू बकर (23) को सराय काले खां, दिल्ली से, जीशान कमर (28) को इलाहाबाद, यूपी से, मोहम्मद आमिर जावेद (31) को लखनऊ, यूपी से और मूलचंद उर्फ साजू उर्फ लाला (47) को रायबरेली, यूपी से पकड़ा गया है. Also Read - Maharashtra Lockdown Update: गणेश विसर्जन के दिन इस शहर में बंद रहेंगी दुकानें, जानें जरूरी सेवाओं के लिए क्या है आदेश...

देवेंद्र फडणवीस ने कहा-सबको खत्म कर देना चाहिए

आतंकियों की गिरफ्तारी पर महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कड़ा बयान दिया है और कहा है कि देश में और खासकर मुंबई में आतंकियों का पकड़े जाना खतरे की घंटी है. ऐसे लोगों को ढूंढना बहुत जरूरी है क्योंकि अब हम ऐसी घटना नहीं होने देना चाहते. ऐसे लोगों को खत्म कर देना चाहिए.

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल द्वारा मुंबई से गिरफ्तार किए गए संदिग्ध आतंकी जान मोहम्मद के बारे में और भी अधिक जानकारी हासिल करने के लिए महाराष्ट्र एटीएस और मुंबई क्राइम ब्रांच की टीम उसकी पत्नी और बेटी से पूछताछ कर रही है. यह पूछताछ किसी अज्ञात जगह पर शुरू है.

गृहमंत्री ने बुलाई बैठक
महाराष्ट्र के गृहमंत्री दिलीप वलसे पाटिल ने मुंबई से संदिग्ध आतंकवादी के गिरफ्तार किए जाने पर बुधवार को पुलिस विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों की अहम बैठक बुलाई है. इस मीटिंग में एटीएस चीफ भी उनसे मुलाकात करेंगे. पाटिल ने कहा कि अधिकारियों से पूरी जानकारी लेने के बाद वे मीडिया से मुखातिब होंगे.

ये थी आतंकियों की प्लानिंग, बड़ी घटना को देना था अंजाम

आतंकियों के एक ग्रुप को नवरात्र व रामलीलाओं के दौरान भीड़भाड़ वाली जगहों पर बम धमाके करने थे और उन जगहों की पहचान करनी थी. वहीं दूसरे ग्रुप को टारगेट किलिंग करनी थी. पाकिस्तान में बैठे अंडरवर्ल्ड दाऊद इब्राहिम व उसके भाई अनिस को भारत में हथियार पहुंचाने थे और फंडिंग का इंतजाम करना था.