मुंबई: डेटिंग साइट्स पर प्यार पाने की इच्छा रखने वालों को यह सौदा महंगा पड़ सकता है. हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि डेटिंग साइट के चक्कर में पड़कर एक 65 वर्षीय शख्स को 73.5 लाख रुपये गंवाने पड़ गएं. डेटिंग साइट पर पंजीकरण कराने के नाम पर जालसाजों ने बुजुर्ग को लाखों का चूना लगा दिया. इस बात की शिकायत मिलन पर पुलिस तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

पूरा मामला कोलकाता के एक फर्जी कॉल सेंटर से जुड़ा हुआ है. खारघर पुलिस की टीम ने कोलकाता में मौजूद इस फर्जी कॉल सेंटर का भांडाफोड़ किया है. बता दें कि जालसाजों ने पीड़ित को लोकेंतो (Locanto) डेटिंग सर्विस की मेंबरशिप ऑफर की. पीड़ित को जालसाजों ने यह भरोसा दिलाया कि उपभोक्ता द्वारा चुने गए लोकेशन पर वे डेटिंग के लिए लड़कियां भेजते हैं.

सर्विस का लाभ लेने के इरादे से पीड़ित व्यक्ति ने रजिस्ट्रेशन फीस और दूसरी फीस का भुगतान कर दिया. जालसाजों द्वारा जब उसे डेटिंग की सहूलियत नहीं मिली तो उन्होंने मेंबरशिप को रद्द करने की मांग की. इस दौरान आरोपियों ने पीड़ित शख्स से जानबूझकर कैस्लेशन चार्ज की मांग की. यही नहीं आरोपियों ने लड़कियों की डिमांड करने को लेकर पीड़ित की शिकायत पुलिस में करने की धमकी भी दी.

बात यहीं खत्म नहीं हुई, जालसाजों ने पीड़ित के यहां लीगल नोटिस तक भेज दिया. आरोपियों ने इस बीच बुजुर्ग को पुलिस से बचाने के लिए और नोटिस वापस लेने के लिए पैसे की डिमांड की. पीड़ित ने अपनी उम्र को देखते हुए और समाज में उसकी इज्जत पर बात न आ जाए इसलिए उसने जालसाजों की बात मान ली. पीड़ित ने अलग-अलग बैंक खातों से जालसाजों को 73.5 लाख रुपये ट्रांसफर कर दिए. हालांकि बाद में बुजुर्ग ने खारघर पुलिस से संपर्क कर मामले में मुकदमा दर्ज कराया. पुलिस ने कोलकाता के इस फर्जी कॉल सेंटर से पुलिस ने सोधपुर की रहने वाली स्नेहा उर्फ माही दास (25), मंडलपारा की प्रबीर साहा (35) और हावड़ा स्थित दुर्गापुर के रहने वाले अर्नब रॉय (26) को गिरफ्तार कर लिया है.