नयी दिल्ली: महाराष्ट्र में बारिश से जुड़ी घटनाओं में आठ लोगों की मौत हो गयी और पांच अन्य घायल हो गये. शुक्रवार को महाराष्ट्र के कई हिस्सों में भारी बारिश हुई, हालांकि उत्तर भारत में शुष्क मौसम बना रहा. राष्ट्रीय राजधानी में तय समय से चार दिन की देरी के बाद तीन जुलाई से मॉनसून के आने की संभावना है.

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के वरिष्ठ वैज्ञानिक कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि 30 जून को बंगाल की खाड़ी में निम्न दबाव क्षेत्र बनने की संभावना है, जिससे पूर्वा हवाएं उत्तर भारत की ओर बढ़ेंगी और मॉनसून के आने में मदद मिलेगी. उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय राजधानी में तीन जुलाई तक मॉनसून के आने की संभावना है. शुरू में शहर में हल्की बारिश होगी. शुक्रवार को राष्ट्रीय राजधानी में गर्म एवं शुष्क स्थिति बनी रही और शहर में कुछ जगहों में पारा 43 डिग्री सेल्सियस को पार गया. सफदरजंग वेधशाला ने अधिकत तापमान 41.5 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 27.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया. हवा में नमी का स्तर भी 26 और 69 प्रतिशत के बीच घटता-बढ़ता रहा. पालम, आयानगर और स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स स्थित मौसम विभागों ने पारा क्रमश: 43.8, 42.9 और 43.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया.

 

45 साल में पहली बार इतनी देरी से पहुंचा मानसून
मुंबई में बारिश की घटनाओं में तीन लोगों की मौत हो गयी. शहर में इस बार के मॉनसून में पहली बार भारी बारिश हुई. 45 साल में इस बार शहर में मॉनसून सबसे अधिक देरी से पहुंचा. मुंबई में सुबह भारी बारिश हुई जिससे सूखे का लंबा दौर खत्म हो गया, हालांकि कुछ घंटे की लगातार बारिश ने देश की वित्तीय राजधानी के लोगों को जलजमाव, ट्रेनों के देरी से चलने, यातायात जाम और नाला जाम की समस्या से जूझने के लिये छोड़ दिया. बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) के प्रवक्ता ने बताया कि करंट लगने से दो व्यक्तियों की मौत हो गयी जबकि पश्चिमी उपनगरीय इलाके में दो अलग-अलग घटनाओं में दो अन्य घायल हो गये. निकाय अधिकारी ने बताया कि मरने वालों की पहचान अंधेरी (पूर्व) की रहने वाली काशिमा युदियार (60), गोरेगांव (पूर्व) के रहने वाले संजय यादन (24) और राजेंद्र यादव (60) के तौर पर हुई है. उन्होंने बताया कि गोरेगांव में बारिश जनित घटनाओं में दो अन्य घायल हुए हैं जिन्हें स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है. उन्होंने कहा कि दादर (पूर्व) में बारिश के दौरान दीवार का एक हिस्सा ढह जाने से तीन लोग घायल हो गये. उन्हें सरकारी केईएम अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

अगले 24 घंटों में भी बारिश होने का पूर्वानुमान
अगले 24 घंटों में भी बारिश होने का पूर्वानुमान जताया गया है. रेलवे अधिकारियों ने बताया कि मुंबई की जीवनरेखा मानी जानी वाली उपनगरीय ट्रेन सेवाएं बारिश की वजह से 10 से 15 मिनट की देरी से चलीं. महाराष्ट्र के पालघर में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से आठ वर्षीय बच्चे की मौत हो गयी जबकि अकोला में दो किसानों की मौत हो गयी. नासिक जिले में बारिश जनित घटनाओं में एक किशोर लड़की समेत दो लोगों की मौत हो गयी. आईएमडी के अनुसार बिहार, पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश और ओडिशा समेत पूर्वी एवं मध्य भारत के कई हिस्सों, पूर्वोत्तर एवं तटीय इलाकों में भारी बारिश हुई.

बारिश की वजह से तापमान गिरने से मौसम खुशनुमा
जल संकट से जूझ रहे चेन्नई में इससे उबरने के लिये वर्षा जल संग्रहण और टैंकरों के फेरे बढ़ाने जैसे उपाय किये जा रहे हैं. ग्रामीण एवं नगर निगम प्रशासन मंत्री एस पी वेलुमणि ने बताया कि टैंकरों का प्रतिदिन का फेरा 9000 से बढ़कर 11,360 फेरे तक पहुंच गया है. इससे पहले ऐसा कभी नहीं हुआ था. जम्मू में गर्मी की स्थिति तेज हो गयी है, वहां अधिकतम तापमान 42.4 डिग्री सेल्सियस पर बना रहा. वहीं श्रीनगर में बारिश की वजह से तापमान गिरने से मौसम खुशनुमा बना रहा. बृहस्पतिवार शाम को वहां कई घंटे तक बारिश हुई थी.

राजस्थान में बीते 24 घंटे में दो से आठ सेमी बारिश
मौसम विभाग के अधिकारी ने बताया कि राजस्थान में बीते 24 घंटे में दो से आठ सेमी बारिश दर्ज की गयी. हालांकि चुरू में 0.8 मिमी बारिश होने के बावजूद यह राज्य में सबसे गर्म स्थान बना रहा. यहां अधिकतम तापमान44.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में अधिकतम तापमान 42 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. मौसम विभाग ने राज्य में 29 जून को छिटपुट जगहों पर बारिश होने की संभावना जतायी है. हरियाणा एवं पंजाब में अधिकतम तापमान सामान्य से ऊपर दर्ज किया गया जबकि अमृतसर में यह सबसे अधिक 42 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.