नई दिल्‍ली: बड़े भाई से छोटे भाई की भूमिका में आई शिवसेना नेता के समर्थन मेें लगा ये पोस्‍टर देखकर कोई भी हैरान हो सकता है. इस पोस्‍टर में आदित्‍य ठाकरे को भावी मुख्‍यमंत्री बताते हुए शुभकामनाएं दी गईं हैं. ये पोस्‍टर किसी समर्थक ने मुंबई के वर्ली इलाके में लगाया गया है, जहां से आदित्‍य ने विधानसभा का चुनाव जीता है.

महाराष्‍ट्र में बड़े भाई से छोटे भाई की भूमिका को अभी तक शिवसेना पचा नहीं पा रही है. पार्टी फिर से अपना सीएम महाराष्‍ट्र की कुर्सी पर बिठाना चाहती है. इस बार के चुनाव में तो शिवसेना के संस्‍थापक बाल ठाकरे की फैमिली के किसी पहले सदस्‍य ने चुनाव लड़ा है. पार्टी सुप्रीम उद्धव ठाकरे ने अपने बेटे आदित्‍य ठाकरे को चुनावी मैदान में उतारा था. आदित्‍य ने जीत भी दर्ज कर ली है.

बता दें गुरुवार को जब विधानसभा चुनाव के परिणाम घोषित हुए, तभी शिवसेना ने 50-50 फॉमूले की बात कही थी. ऐसे में सरकार बनने के बाद ही सामने आ पाएगा कि बीजेपी-शिवसेना के बीच सत्‍ता की साझेदारी को लेकर क्‍या शर्तें हैं.

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के गुरुवार को आए नतीजों के अनुसार जनता ने भाजपा-शिवसेना गठबंधन को शासन के लिए और पांच साल दिया है. महाराष्ट्र की कुल 288 विधानसभा सीटों में भाजपा को 105 पर जीत मिली है. वहीं, सहयोगी शिवसेना को 56 सीटों पर जीत मिली है. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने 54 सीटें जीती हैं, जबकि कांग्रेस के खाते में 44 सीटें गई हैं.

वर्ष 2014 के विधानसभा चुनाव में भाजपा को 122, शिवसेना को 63, कांग्रेस को 42 और राकांपा को 41 सीटें मिली थी. उस चुनाव में भाजपा और शिवसेना अलग-अलग चुनाव लड़े थे. हालांकि, बाद में शिवसेना भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार में शामिल हो गई थी.

बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने कहा कि नतीजों के साथ महाराष्ट्र में अगली सरकार बनाने की रोचक संभावना भी सामने आई है. लेकिन क्या कांग्रेस-एनसीपी , शिवसेना से गठबंधन करेगी इसपर रुख स्पष्ट नहीं किया. उन्होंने भाजपा के मुकाबले कम अहितकर पार्टी करार दिया.  (इनपुट-एजेंंसी)