मुंबई. मुंबई आतंकवादी हमले के 10 साल बाद मुंबई पुलिस एक तटीय बेड़ा स्थापित करने जा रही है, जिसमें होवरक्राफ्ट भी शामिल किया जाएगा. मुंबई के पुलिस आयुक्त सुबोध कुमार जायसवाल ने मीडिया के साथ बातचीत में रविवार को कहा कि तटीय इलाकों की सुरक्षा के लिए तटीय पुलिस लगातार चौकसी बरत रही है. उन्होंने कहा कि दो होवरक्राफ्ट खरीदे जा रहे हैं ताकि तटीय क्षेत्रों के दुर्गम इलाकों तक भी सुरक्षाकर्मियों की पहुंच हो सके. अभी बेड़े में स्पीडबोट और गश्ती पोत शामिल हैं.

संयुक्त पुलिस आयुक्त (कानून व्यवस्था) देवेन भारती ने कहा कि हम नई नौकाओं और जरूरी पोतों की खरीद कर अपनी तटीय ताकत बढ़ा रहे हैं. हमने इसके लिए सरकार के पास प्रस्ताव भेजे हैं. उन्होंने कहा कि 26/11 हमले के बाद मुंबई पुलिस ने तटीय गश्त के लिए स्पीडबोट और एंफीबियस नौकाएं खरीदी और मरीन पुलिस स्टेशन भी स्थापित किए. एक अन्य अधिकारी ने बताया कि महानिरीक्षक, तटीय सुरक्षा का एक पद सृजित किया गया है जो महाराष्ट्र की 720 किमी लंबी तटरेखा की सुरक्षा के लिए एजेंसियों के बीच समन्वय के लिए नोडल अधिकारी होंगे. उन्होंने कहा कि अब तक 44 तटीय पुलिस स्टेशन स्थापित किए गए हैं.

उन्होंने कहा कि इन एजेंसियों के बीच समन्वय को बढ़ावा देने के लिए ऑपरेशन सागर कवच का आयोजन किया गया था. हमने समुद्र तट से जुड़े राजमार्गों पर 91 नाके भी स्थापित किए हैं. पुलिस ने सागर सुरक्षा दल का भी गठन किया है और करीब 6,000 मछुआरे इसके सदस्य हैं. उन लोगों ने इस साल लगभग 50 लोगों को समुद्र में डूबने से बचाया है. बता दें कि लश्कर-ए-तैयबा के दस आतंकवादी 26 नवम्बर, 2008 को कराची से मुम्बई में घुस गए थे और उन्होंने वहां हमले किए. इस आतंकी घटना में 166 लोग मारे गए थे और 300 से अधिक घायल हुए थे.

(इनपुट – एजेंसी)