नई दिल्‍ली: शिवसेना ने महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर एनसीपी और कांग्रेस के रुख को देखते हुए अपने सभी विधायकों को 22 नवंबर को होने वाली एक मीटिंग के लिए बुलाया है. पार्टी ने सभी विधायकों से कहा है कि वे अपने-अपने आईडी कॉर्ड्स और पांच दिन के लिए कपड़े भी साथ में लेकर आएं. माना जा रहा है कि शिवसेना अपने सभी विधायकों को कहीं एकांत मेंं एक- दो दिन के लिए फ‍िर से इकट्ठा रुकवा सकती है.

वहीं, बुधवार को महाराष्‍ट्र के दिग्‍गज मराठा नेता एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से राज्‍य के किसानों के मुद्दे पर मुलाकात करके उनके लिए मदद मांगी है. बता दें कि महाराष्ट्र में अभी राष्ट्रपति शासन लागू है और कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना सरकार बनाने के रास्ते की तलाश में जुटी हुई हैं.

शिवसेना नेता अब्‍दुल सत्‍तार ने बताया कि सभी विधायकों को 22 नवंबर को होने वाली मीटिंग के लिए बुलाया गया है. पार्टी ने हमारी आईडी और पांच दिन के लिए कपड़े लाने को कहा है. मेरा मानना है कि हमें एक जगह पर दो-तीन दिन रुकना होगा. तभी अगला कदम तय होगा. उद्धव ठाकरे जी महाराष्‍ट्र के सीएम निश्‍चित रूप से होंगे.

शिवसेना के एक नेता ने कहा कि पार्टी सुप्रीमो उद्धव ठाकरे बैठक को संबोधित करेंगे, जिसमें राज्य में सरकार गठन को लेकर पार्टी की भविष्य की रणनीति पर विचार-विमर्श किए जाने की उम्मीद है.

बीजेपी और शिवसेना के अलग-अलग रास्ते होने के बाद शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी से समर्थन पाने की उम्‍मीद में कोशिशें कर रही हैं. हालांकि, कई दौर की बातचीत के बाद भी अभी तक तीनों पार्टियों के बीच सरकार गठन को लेकर अंतिम निर्णय नहीं लिया जा सका है.