अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) मामले में रविवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने चुप्पी तोड़ी. हालांकि उद्धव ठाकरे ने बिना किसी का नाम लिये इशारों-इशारों में चेताया कि ‘मेरी चुप्पी का यह मतलब नहीं कि मेरे पास जवाब नहीं हैं.’ महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना (Shiv Sena) अध्यक्ष उद्धव ठाकरे (Maharashtra CM Uddhav Thackeray) ने रविवार को दावा किया कि राज्य को बदनाम करने की साजिश की जा रही है. उन्होंने यह भी कहा कि उनकी सरकार COVID-19 महामारी से लड़ने के लिए प्रभावी रूप से काम कर रही है, जिसने महाराष्ट्र में 10 लाख से अधिक लोगों को संक्रमित किया है. Also Read - Karan Johar ने वायरल VIDEO को लेकर जारी किया बयान, प्रोडक्शन हाउस के कर्मचारियों से पूछताछ पर कही यह बात...

उद्धव ने कहा, ‘कुछ लोगों को लग सकता है कि कोरोना खत्म (Coronavirus) हो गया है और उन्हें फिर राजनीति शुरू करनी चाहिए, मैं राजनीति पर बात नहीं करूंगा, लेकिन महाराष्ट्र को बदनाम करने की साजिश है. ठाकरे ने अपने 40 मिनट लंबे संबोधन में कहा कि मेरी चुप्पी का यह मतलब नहीं कि मेरे पास जवाब नहीं हैं. मैं मुख्यमंत्री पद की गरिमा का पालन कर रहा हूं.’ उन्होंने कहा कि इस समय मेरा पूरा ध्यान कोरोना की तरफ है.

इस दौरान उद्धव ठाकरे ने COVID-19 महामारी से लड़ने के लिए ‘मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी’ नाम से एक अभियान शुरू किया. उन्होंने कहा कि मैं कठिन समय के दौरान उनके समर्थन के लिए सभी धर्मों के महाराष्ट्र के लोगों को धन्यवाद देता हूं. यह सभी धर्मों के लिए उत्सव का समय था. सभी ने संयम बनाए रखा. उन्होंने कहा कि इस अभियान के तहत मेडिकल टीम घर-घर जाकर लोगों के स्वास्थ्य की जानकारी लेगी. महाराष्ट्र के सीएम ने कहा कि ऑक्सीजन की कमी को दूर करने का प्रयास भी किया जा रहा है.

पूर्व नौसेना अधिकारी पर हमला, कंगना रनौत मुद्दा, सुशांत सिंह राजपूत की मौत और रिया चक्रवर्ती की ड्रग्स मामले में हमले का उल्लेख किए बिना ही मुख्यमंत्री ने कहा कि जो भी ‘तूफान’ राज्य में पहुंचे हैं चाहे वह प्राकृतिक हो या राजनीतिक हो सरकार उन सभी को संभालने में सक्षम है.

बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत केस में मुखर रहने वालीं कंगना ने मुंबई की तुलना PoK से कर दी थी. इसके बाद शिवसेना नेताओं ने कंगना के खिलाफ मोर्चा खोल दिया. केंद्र सरकार से Y+ श्रेणी की सुरक्षा मिलने के बाद 9 सितंबर को कंगना मुंबई पहुंची, लेकिन उसी दिन BMC ने उनके दफ्तर पर बुलडोजर चढ़ा दिया. इसे लेकर कंगना ने उद्धव ठाकरे पर हमला बोला.

कंगना ने टि्वटर पर वीडियो पोस्‍ट करते हुए कहा कि ‘उद्धव ठाकरे तुझे क्‍या लगता है कि तूने फिल्‍म माफिया के साथ मिलकर मेरा घर तोड़कर बहुत बड़ा बदला लिया है. आज मेरा घर टूटा है. कल तेरा घमंड टूटेगा. ये वक्‍त का पहिया है, याद रखना हमेशा एक जैसा नहीं रहता है.’

कंगना ने आगे कहा था कि अब मुझे लगता है कि तुमने मुझ पर बहुत बड़ा एहसान किया है. क्‍योंकि मुझे पता तो था कि कश्‍मीरी पंडितों पर क्‍या बीती होगी? आज मैंने महसूस किया है. आज मैं इस देश को वचन देती हूं कि मैं सिर्फ अयोध्‍या पर ही नहीं, कश्‍मीर पर भी एक फिल्‍म बनाउंगी और अपने देशवासियों को जगाऊंगी, क्‍योंकि मुझे पता था कि हमारे साथ होगा तो होगा. लेकिन मेरे साथ हुआ है. इसका कुछ मतलब है, कुछ मायने है. उद्धव ठाकरे ये जो क्रूरता और आतंक है. अच्‍छा हुआ. ये मेरे साथ हुआ. क्‍योंकि इसके कुछ मायने हैं, जय हिंद… जय महाराष्‍ट्र…