नई दिल्लीः महाराष्ट्र (Maharashtra) के पालघर में बीते दिनों दो साधुओं और उनके ड्राइवर के साथ हुई मॉब लिंचिंग (Palghar Mob-Lynching Incident) मामले में महाराष्ट्र सरकार आज आरोपियों के नाम जारी कर दिए हैं. महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) ने इस बात की जानकारी देते हुए बताया कि, आज महाराष्ट्र सरकार सभी आरोपियों के नाम व्हाट्सएप के जरिए जारी करेगी. अनिल देशमुख के मुताबिक, मामले में अबतक जो 101 आरोपी गिरफ्तार किए गए हैं, उनमें कोई भी मुस्लिम नहीं है. Also Read - Maharashtra Local News: महाराष्ट्र सरकार ने 7.2 लाख ऑटो रिक्शा चालकों को दी बड़ी राहत, 108 करोड़ रुपये किए आवंटित

गृहमंत्री अनिल देशमुख ने अपने ट्विटर अकाउंट पर यह लिस्ट जारी की है . उन्होंने लिखा कि जो लोग इस पूरे मामले को एक धार्मिक रूप दे रहे हैं वो इसे ध्यान से पढ़ें. Also Read - इन दस राज्यों में कोविड-19 के 71 फीसदी से ज्यादा नए मामले, महाराष्ट्र और कर्नाटक सबसे आगे

गृह मंत्री अनिल देशमुख ने बताया कि पालघर हिंसा मामले में CID के विशेष आईजी स्तर के अधिकारी जांच कर रहे हैं. जिन्होंने बताया की मामले पर तुरंत कार्रवाई करते हुए पुलिस ने महज आठ घंटों में ही 101 आरोपियों की पहचान करते हुए उन्हें हिरासत में ले लिया है. जिनके नाम आज जारी किए जाएंगे.

 

उन्होंने आगे बताया कि, वीडियो में एक आवाज सुनाई दे रही है ‘ओए बास’ जिसे ऑनलाइन शेयर किया जा रहा है. इस आवाज को ‘शोएब बास’ कहकर शेयर किया जा रहा है, जोकि एक अफवाह है. वीडियो में ‘शोएब बास’ नहीं बल्कि ‘ओए बास’ की आवाज आ रही है. कुछ लोग इस मामले में सांप्रदायिक एंगल लाने की कोशिश कर रहे हैं, जो कि गलत है. अफवाह फैलाने वालों की भी पहचान करने की कोशिश की जा रही है. जिनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

बता दें 17 अप्रैल को महाराष्ट्र के पालघर में दो साधुओं और उनके ड्राइवर के साथ भीड़ द्वारा हिंसा का मामला सामने आया था. जिसमें तीनों की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई. भीड़ द्वारा मारे गए दोनों साधु जूना अखाड़ा के बताए जा रहे हैं. जो मुंबई से सूरत जा रहे थे. इसी दौरान 17 अप्रैल को तड़के जब वह पालघर पहुंचे तो किसी ने इन्हें लुटेरा समझकर हल्ला कर दिया. जिसके बाद करीब 200 लोगों ने इनकी गाड़ी पर हमला कर दिया और पीट-पीटकर इनकी हत्या कर दी.