मुंबई : महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई की एक अदालत ने सोमवार को महाराष्ट्र में भारी मात्रा में हथियार और विस्फोटक सामग्री जब्त होने के संबंध में गिरफ्तार शिवसेना के पूर्व कारपोरेटर श्रीकांत पनगारकर को 28 अगस्त तक आतंकवाद रोधी दस्ते (एटीएस) की हिरासत में भेज दिया. अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश विनोद पडालकर ने पनगरकर को आगे की जांच के लिए महाराष्ट्र एटीएस की हिरासत में भेज दिया. Also Read - भारतीय क्रिकेटरों को दी जान से मारने की धमकी, महाराष्ट्र एटीएस ने असम से दबोचा आरोपी

बता दें हथियारों और विस्फोटकों का जखीरा बरामद होने के संबंध में 10 अगस्त को तीन लोगों वैभव राउत, शरद कलास्कर और सुधानवा गोंधालेकर को एटीएस ने पालघर और पुणे जिलों से गिरफ्तार किया था. ये तीनों 28 अगस्त तक एटीएस की हिरासत में हैं. Also Read - महाराष्ट्र: विस्फोटों की साजिश रचने वाला पांचवां आरोपी भी गिरफ्तार

राज्य के विभिन्न हिस्सों में 9 से 11 अगस्त के बीच हथियारों और देसी बमों के जब्त होने के संबंध में रविवार रात एटीएस ने पनगारकर को गिरफ्तार किया था. हिरासत के लिए दलीलें देते हुए अभियोजन ने कहा कि हथियारों के जब्त होने से पनगरकर के संबंधों की जांच की जरूरत है. अभियोजन ने कहा कि राज्य के जालना जिले स्थित पनगरकर के आवास से एक पेन ड्राइव, हार्डडिस्क और अपराध से जुड़े कुछ दस्तावेज जब्त किए गए हैं. Also Read - महाराष्ट्र एटीएस ने दक्षिणपंथी आतंकी संदिग्धों से बरामद किए और हथियार

उन्होंने कहा कि पहली नजर में ऐसा लगता है कि वह विस्फोटकों का जखीरा मिलने के बाद इसी महीने गिरफ्तार तीन अन्य आरोपियों को वित्तपोषित कर रहे थे. पनगारकर के बैंक लेनदेन की जांच भी की जानी है.