Arnab Goswami Arrested In Mumbai: निजी समाचार चैनल ‘रिपब्लिक टीवी’ के प्रधान संपादक अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी पर बवाल मचा हुआ है. मुंबई पुलिस ने बुधवार तड़के दो साल पुराने आत्महत्या से जुड़े एक मामले में उन्हें गिरफ्तार किया है. अर्नब पर आरोप है कि उन्होंने दो साल पहले 53 वर्षीय एक इंटीरियर डिजाइनर को कथित रूप से आत्महत्या के लिए उकसाया था. इसी मामले में बुधवार को उनको गिरफ्तार कर लिया गया. Also Read - 500 Crore Defamation Case: यूट्यूबर ने अक्षय कुमार के 500 करोड़ रुपये के मानहानि नोटिस का किया विरोध, जानिए पूरा मामला

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि अलीबाग पुलिस की एक टीम ने गोस्वामी को यहां उनके घर से गिरफ्तार किया. गोस्वामी को पुलिस वैन में बैठाते हुए देखा गया. Also Read - Sushant Death Case: अक्षय कुमार ने रिया को कनाडा भगाने में की मदद... ऐसा दावा करने वाले यूट्यूबर पर 500 करोड़ का केस

इस दौरान गोस्वामी ने दावा किया कि पुलिस ने उनके घर पर उनके साथ बदसलूकी की. Also Read - कंगना रनौत, उनकी बहन रंगोली को मुंबई पुलिस ने फिर किया समन, जानें क्या है मामला...

अधिकारी ने बताया कि 2018 में एक आर्किटेक्ट और उनकी मां ने कथित तौर पर गोस्वामी के रिपब्लिक टीवी द्वारा उनके बकाया का भुगतान न किए जाने के कारण आत्महत्या कर ली थी.

इस वर्ष मई में महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने आर्किटेक्ट अन्वय नाइक की बेटी अदन्या नाइक की नई शिकायत के आधार पर फिर से जांच के आदेश दिये जाने की घोषणा की थी.

देशमुख ने बताया था कि अदन्या ने आरोप लगाया है कि अलीबाग पुलिस ने गोस्वामी के चैनल द्वारा बकाया भुगतान ना करने के मामले में जांच नहीं की. उसका दावा है कि इस कारण ही उसके पिता और दादी ने मई 2018 में आत्महत्या कर ली थी.

इस बीच अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी के खिलाफ कई लोगों ने आवाज उठाई है. केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि यह महाराष्ट्र में “प्रेस की स्वतंत्रता पर हमला है” और इससे “आपातकाल के दिनों” की याद आती है.

जावड़ेकर ने ट्वीट किया, “महाराष्ट्र में प्रेस की स्वतंत्रता पर हमले की हम निंदा करते हैं. प्रेस के साथ पेश आने का यह तरीका नहीं है. इससे आपातकाल के दिनों की याद आती है जब प्रेस के साथ इस प्रकार का व्यवहार किया जाता था.”

(इनपुट -भाषा)