मुंबई: दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर की सुरक्षा घटा दी गई है, जबकि शिवसेना के विधायक आदित्य ठाकरे की सुरक्षा बढ़ाकर ‘जेड’ श्रेणी की कर दी गई है. बता दें कि भारत रत्न से सम्मानित तेंदुलकर को अब तक ‘एक्स’ श्रेणी की सुरक्षा दी गई थी, जबकि 29 वर्षीय विधायक को ‘वाई प्लस’ श्रेणी की सुरक्षा दी गई थी.

एक अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी देते हुए बताया कि महाराष्ट्र सरकार की समिति ने सुरक्षा की समीक्षा की थी, जिसके बाद विभिन्न लोगों पर खतरे का आकलन करते हुए उन्हें प्रदत्त सुरक्षा में बदलाव किए गए.

अधिकारी ने बताया कि समिति ने हाल की बैठक में तेंदुलकर और आदित्य ठाकरे के अलावा 90 से अधिक शख्सियतों को दी गई सुरक्षा की समीक्षा की थी.

सचिन तेंदुलकर ‘एक्स’ श्रेणी की सुरक्षा दी गई थी
तेंदुलकर को अब तक ‘एक्स’ श्रेणी की सुरक्षा दी गई थी. इस श्रेणी के तहत एक पुलिसकर्मी 46 वर्षीय क्रिकेट खिलाड़ी की सुरक्षा में दिन रात तैनात रहता था. उनसे यह सुरक्षा तो वापस ले ली गई है, लेकिन अब वह जब भी घर से बाहर निकलेंगे तो उन्हें पुलिस सुरक्षा दी जाएगी.

आदित्य ठाकरे को वाई से बढ़ा ‘जेड’ श्रेणी की सुरक्षा दी गई
वहीं, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे को ‘जेड’ श्रेणी की सुरक्षा दी गई है. इसका मतलब है कि उनकी सुरक्षा में और पुलिसकर्मी तैनात किए जाएंगे. अब तक वर्ली के 29 वर्षीय विधायक को ‘वाई प्लस’ श्रेणी की सुरक्षा दी गई थी.

शरद पवार को जेड प्‍लस और अजित पवार को जेड श्रेणी जारी रहेगी
एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार को ‘जेड प्लस’ श्रेणी की सुरक्षा और उनके भतीजे अजीत पवार को जेड श्रेणी की सुरक्षा मिलती रहेगी।

अण्णा हजारे की सुरक्षा बढ़ा जेड’ श्रेणी की गई
सामाजिक कार्यकर्ता अण्णा हजारे की सुरक्षा ‘वाई प्लस’ से बढ़ाकर ‘जेड’ श्रेणी की कर दी गई. उत्तर प्रदेश के पूर्व राज्यपाल राम नाईक की सुरक्षा ‘जेड प्लस’ से घटाकर ‘एक्स’ श्रेणी की कर दी गई.

बीजेपी नेताओं की भी सुरक्षा घटाई
भाजपा के पूर्व मंत्रियों एकनाथ खड़से और राम शिंदे की सुरक्षा भी घटाई गई है. अधिकारी ने बताया कि राज्य की पूर्ववर्ती भाजपा सरकार में मंत्री रह चुके कईयों की सुरक्षा भी आने वाले वक्त में घटाई जाएगी.

उज्जवल निकम को सुरक्षा दस्‍ता
जानेमाने अधिवक्ता उज्जवल निकम की सुरक्षा ‘जेड प्लस’ से घटाकर ‘वाई’ श्रेणी कर दी गई. उन्हें सुरक्षा दस्ता दिया जाएगा.