नई दिल्‍ली/ मुंबई: सुप्रीम कोर्ट के महाराष्‍ट्र विधानसभा में फ्लोर टेस्‍ट बुधवार को कराने का फैसला आने के बाद भी बीजेपी दावा कर रही है कि वह कल बहुमत का साबित कर देगी. वहीं, कांग्रेस ने विधानसभा में अपनी पार्टी के विधायक दल के नए नेता का चयन कर लिया है. पार्टी ने महाराष्‍ट्र कांग्रेस प्रमुख बालासाहेब थोरात को इस पद पर नियुक्‍ति की है.

बीजेपी की मुख्‍यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के निवास पर हुई मीटिंग के बाद पार्टी नेता राव साहेब दानवे ने सरकार बनाने का बड़ा दावा किया है. पार्टी के विधायकों की आज रात को 9 बजे अहम मीटिंग होने जा रही है.

बीजेपी नेता राव साहेब दानवे ने कहा, हम कल अपना बहुमत साबित कर देंगे. आज रात 9 बजे सभी बीजेपी विधायकों की मीटिंग मुंबई के गारवारे क्‍लब में होगी. वहीं, कांग्रेस ने दावा किया कि शिवसेना-राकांपा और कांग्रेस के पास कुल मिलाकर 162 विधायकों का समर्थन है.

मुंबई के फाइव स्‍टार होटल जेडब्‍ल्‍यू मैरियट में कांग्रेस विधायकों की मीटिंग में विधानसभा में पार्टी के नेता के रूप में प्रदेश कांग्रेस अध्‍यक्ष बाला साहेब थोरात को चुना गया है. इस मीटिंग में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, बालासाहेब थोरात और अशोक चव्‍हाण मौजूद रहे.

उल्‍लेखनीय है कि पिछले महीने हुए राज्य विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 105 और शिवसेना ने गठबंधन 56 सीटों के साथ था. हालांकि, शिवसेना की मुख्यमंत्री पद की मांग भाजपा द्वारा ठुकराए जाने के बाद यह गठबंधन टूट गया.

21 अक्टूबर को हुए चुनाव में एनसीपी ने 54 और कांग्रेस ने 44 सीटों पर जीत दर्ज की थी

बता दें कि कांग्रेस ने महाराष्ट्र में शक्ति परीक्षण कराने के उच्चतम न्यायालय के मंगलवार के आदेश को लोकतंत्र की जीत बताते हुए इसकी प्रशंसा की और कहा कि यह भाजपा-अजित पवार की अवैध सरकार पर एक तमाचा है. विपक्षी पार्टी ने यह भी आरोप लगाया कि भाजपा ने लोकतंत्र को कलंकित किया जबकि उच्चतम न्यायालय ने संविधान दिवस के मौके पर आदेश देकर राष्ट्र को भेंट दी.

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया, ”उच्चतम न्यायालय का फैसला भाजपा-अजित पवार की नाजायज सरकार पर तमाचा है, जिसने जनादेश को बंधक बना लिया था. फर्जीवाड़े की नींव पर बनी सरकार को संविधान दिवस के मौके पर शिकस्त मिली.”

शीर्ष अदालत के आदेश के बाद हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पृथ्वीराज चव्हाण ने महाराष्ट्र विधानसभा में बुधवार को शक्ति परीक्षण कराए जाने के अदालत के फैसले पर संतुष्टि प्रकट की और कहा कि कांग्रेस, शिवसेना और एनसीपी गठबंधन को सदन में बहुमत हासिल है. (इनपुट: एजेंसी)