मुंबई: महाराष्ट्र भाजपा ने रविवार को कहा कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के पास अपनी 11 महीने पुरानी सरकार के प्रदर्शन के बारे में कहने के लिए कुछ नहीं था और शिवसेना की वार्षिक दशहरा रैली में उन्होंने केवल भाजपा और केंद्र सरकार पर निशाना साधा. Also Read - 'महाराष्ट्र में अगले 2-3 माह में सरकार बना लेगी बीजेपी, तैयारी हो गई है'

राज्य भाजपा के प्रवक्ता केशव उपाध्ये ने आरोप लगाया कि ठाकरे के पास शिवसैनिकों को अपनी सरकार के काम के बारे में बताने के लिए कुछ भी नहीं था. उन्होंने कहा, ‘‘सत्ता के लिए शिवसेना ने हिंदुत्व से समझौता किया. उद्धव ठाकरे ने कांग्रेस द्वारा सावरकर की आलोचना पर एक भी शब्द नहीं बोला और उन्हें सावरकर स्टेडियम से दशहरा रैली को संबोधित करना पड़ा. यह आदर्श न्याय है.’’ Also Read - Maharashtra Lockdown Latest News: महाराष्ट्र में फिर लग सकता है लॉकडाउन!, कैबिनेट मंत्री ने दी ये बड़ी जानकारी

उपाध्ये ने कहा कि राज्य सरकार ने दस हजार करोड़ रुपये के पैकेज की घोषणा कर किसानों के साथ मजाक किया है. उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य सरकार ने केंद्र के जीएसटी प्रस्ताव का जवाब नहीं दिया. उपाध्ये ने कहा कि देश में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या सबसे ज्यादा इसी राज्य में है. Also Read - Lockdown in Maharashtra: क्या महाराष्ट्र में फिर लगेगा लॉकडाउन?, सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा- राज्य में दोबारा...

ठाकरे ने रविवार की शाम को हुई रैली में भाजपा पर यह कहते हुए प्रहार किया कि अगर केंद्र सरकार देश की अर्थव्यवस्था सुधारने के बजाए केवल सरकारों को गिराने में रूचि रखती है तो देश में अराजकता फैल जाएगी.