महाराष्ट्र। कांग्रेस के दिग्गज नेता नारायण राणे और पर्यटन मंत्री जयकुमार रावल की मुलाक़ात के बाद एक बार फिर राणे के बीजेपी में शामिल होने की अटकले तेज़ हो गई है। कांग्रेस से नाराज़ चल रहे राणे और रावल ने रत्नागिरी में मुलाक़ात की। हालांकि, बीजेपी की ओर से इस मुलाक़ात को ‘‘शिष्टाचार मुलाकात’’ बताया गया।

बता दें कि, हाल ही में राणे के बेटे पूर्व सांसद नीलेश ने राज्य कांग्रेस प्रमुख अशोक चव्हाण की आलोचना करते हुए उनकी नेतृत्व क्षमता पर सवाल उठाए थे। इसके अलावा राणे के दूसरे बेटे नितेश राणे का नाम महाराष्ट्र विधानसभा के निलंबित सदस्यों में ना होने से राणे बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं के करीब माने जा रहे हैं। पिछले कई महीनों से राणे पार्टी की नीतियों की खुलेआम आलोचना कर रहे हैं। इसके अलावा मुंबई महानगरपालिका चुनावों में स्थानीय नेताओं के साथ उनके कलह की खबर भी सामने आई है। ज़िला परिषद चुनावों में भी राणे को कांग्रेस का साथ नहीं मिला। यह भी पढ़े: शिवसेना की ब्लैकमेलिंग से परेशान बीजेपी मिला सकती है एनसीपी से हाथ

रावल आज रत्नागिरि में थे और उन्होंने वहां राणे के आवास पर उनसे मुलाकात की। राणे के भाजपा में शामिल होने के बारे में पूछे जाने पर राज्य इकाई भाजपा प्रवक्ता मधु चौहान ने अटकलों को खारिज कर दिया।

With inputs from Agencies