नासिक: भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने यहां शनिवार को कहा कि अगर शिवसेना को अपने सहयोगी कांग्रेस व राकांपा के साथ नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) को लागू करने में समस्याओं का सामना करना पड़ा, तो वह महाराष्ट्र में शिवसेना के साथ कोई भी राजनीतिक समझौता करने के लिए तैयार है. पूर्व मंत्री आशीष शेलार ने कहा कि भाजपा के लिए राष्ट्र हर चीज पर ऊपर है और सीएए को लागू करना देश और महाराष्ट्र के हितों के लिए अति आवश्यक है.

शेलार ने मीडियाकर्मियों से कहा, “महाराष्ट्र और देश के अन्य हिस्सों में कई पाकिस्तानी और बांग्लादेशी अवैध प्रवासी रहते हैं. हम मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से तुरंत सीएए को लागू करने का आह्वान करते हैं.” यह पूछे जाने पर कि क्या आप इस मुद्दे पर महा विकास अघाडी सरकार से शिवसेना को नाता तोड़ लेने को कहेंगे, शेलार ने कहा कि अगर राकांपा और कांग्रेस किसी तरह की बाधा उत्पन्न न करे तो भाजपा सभी समायोजन करने के लिए तैयार है.

शेलार ने शिवसेना से आग्रह किया, “अपनी सरकार को बचाने की चिंता न करें. अगर आप सीएए के लिए सरकार से बाहर चले आते हैं तो हम आपस में चर्चा कर सकते हैं और समझौता कर सकते हैं. किसी से डरें नहीं, उन्हें अपनी असली ताकत दिखाएं.” उन्होंने कहा कि शिवसेना ने लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक का समर्थन किया था, लेकिन राज्यसभा में इसका समर्थन करने से पार्टी पीछे हट गई.

शेलार ने कहा, “अपनी सरकार को बचाने के लिए शिवसेना को राष्ट्रीय हितों का त्याग नहीं करना चाहिए.” शेलार ने दावा किया कि भाजपा की कभी सत्ता की राजनीति में दिलचस्पी नहीं रही है, बल्कि इसने केवल राष्ट्रीय हितों के लिए काम किया है. इसी दिशा में सीएए को महाराष्ट्र में लागू किया जाना चाहिए. शेलार की आलोचना करते हुए शिवसेना की प्रवक्ता मनीषा कयांडे ने आईएएनएस से कहा, “शेलार लगातार सीएम पर निशाना साध रहे हैं और सोशल मीडिया के माध्यम से विभिन्न मुद्दों पर पार्टी की बुराई कर रहे हैं. आज उनका रुख अचानक कैसे बदल गया है? क्या वह पार्टी की ओर से आधिकारिक तौर पर बोल रहे हैं?

उन्होंने कहा कि भाजपा ने अब समझौता करने में बहुत देर कर दी है, क्योंकि शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस गठबंधन बहुत दूर तक चला गया है और राज्य को प्रभावी ढंग से संचालित कर रहा है. भाजपा के राज्य उपाध्यक्ष किरीट सोमैया ने भी शुक्रवार को ठाकरे को पत्र लिखकर मांग की थी कि राज्य सरकार को सीएए लागू करने की घोषणा तुरंत करनी चाहिए.

(इनपुट आईएएनएस)