मुंबई: बॉलीवुड एक्‍ट्रेस कंगना रनौत के वकील ने बुधवार को आरोप लगाया कि बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) ने बांद्रा में उनके बंगला का जो हिस्सा दिन में ध्वस्त किया है, वहां उसके अवैध निर्माण के बारे में नगर निकाय झूठ बोल रहा है. Also Read - कंगना रनौत को पता है फैशन सीक्रेट, बोलीं- गांव की जोकर थी, लोग हंसते थे, फिर....

मुंबई पुलिस के बारे में कंगना की टिप्पणी के बाद विवाद बढ़ने पर शिवसेना के प्रभुत्व वाले बीएमसी ने बुधवार को अभिनेत्री के बांद्रा बंगला में अवैध निर्माण ध्वस्त करना शुरू किया. हालांकि, बंबई हाईकोर्ट ने बाद में इस प्रक्रिया पर रोक लगा दी और नगर निगम से यह जानना है कि उसने परिसंपत्ति में प्रवेश कैसे किया, जब उसकी मालकिन वहां उपस्थित नहीं थी. Also Read - Hathras Gangrape: लड़की के साथ हैवानियत के बाद हुई मौत पर उबल पड़ी कंगना रनौत, CM योगी के लिए कही ये बात...

स्थगन आदेश के बाद कंगना के कार्यालय के बाहर मीडियाकर्मी से बात करते हुए उनके वकील रिजवान सिद्दीकी ने कहा, ”बीएमसी झूठ बोल रही है. उनका कहना है कि उन्होंने काम रोकने का नोटिस दिया था. लेकिन इस तरह का नोटिस तब दिया जाता है, जब निर्माण कार्य जारी हो.” Also Read - सोनू सूद को मिला बड़ा सम्मान, संयुक्त राष्ट्र ने अवॉर्ड देकर कहा- आपने जो किया वो...

कंगना के वकील रिजवान सिद्दीकी ने कहा, ”उस स्थान पर कोई निर्माण कार्य नहीं चल रहा था. करीब डेढ साल पहले यह पूरा हो गया था.” उन्होंने कहा कि बीएमसी अधिकारियों को बताया गया था कि उन्होंने निर्माण कार्य ढहाये जाने के खिलाफ बंबई हाईकोर्ट का रुख किया है लेकिन नगर निकाय अधिकारियों ने तब भी प्रक्रिया नहीं रोकी.

कंगना रनौत के वकील रिज़वान सिद्दीकी ने कहा, जो ‘स्टाप वर्क’ नोटिस दिया था वो बे​बुनियाद है और अवैध है, स्टाप वर्क उनको देना पड़ता है जिनके घर में काम चालू हो. वो अवैध तरीके से घर में घुसे, आस पड़ोस में सबको धमकी देकर घुस गए. नोटिस का जवाब मैंने कल ही दे दिया था.

कंगना रनौत के वकील ने कहा, सुबह उन्होंने हमारा जवाब अस्वीकार किया और अस्वीकार करने से पहले ही तोड़ने के लिए वहां लोग मौजूद थे. हमारे पास बहुत कानूनी विकल्प हैं, उन्होंने सं​पत्ति को बहुत नुकसान पहुंचाया. हमें जो करना है करेंगे, हम लोग शिकस्त नहीं मानें.

वकील ने कहा, ”मैंने उनसे यह भी कहा था कि यह विषय अदालत में है. इसके बावजूद उन्होंने ध्वस्त करने का कार्य नहीं रोका. यह तभी रोका गया जब हाईकोर्ट ने इस पर स्थगन आदेश दिया.”

मुंबई पुलिस और महाराष्ट्र के बारे में कंगना के एक हालिया बयान से विवाद खड़ा हो गया है. उन्होंने दावा किया था कि वह मुंबई में असुक्षित महसूस करती हैं. इसके बाद शिवसेना के नेता संजय राउत ने उनसे मुंबई वापस नहीं आने को कहा था. राउत के इस बयान के बाद अभिनेत्री ने मुंबई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) से की थी.