मुंबई: मुंबई के नागपाडा में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के खिलाफ पिछले दो सप्ताह से चल रहे विरोध प्रदर्शन के आयोजकों और 300 महिला प्रदर्शनकारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. Also Read - Tauktae Latest Updates: मुंबई में इस शनिवार और रविवार को नहीं लगेगी कोरोना वैक्सीन, जानें क्या है वजह...

बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) के सहायक आयुक्त ने शुक्रवार शाम को नागपाडा पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई. एक अधिकारी ने बताया कि शिकायत में कहा गया है कि प्रदर्शनकारियों ने मोरलैंड रोड पर एक मंच बनाया है और सड़क पर कुर्सियां रखी हुई हैं जिससे इलाके में यातायात बाधित हो गया है. इसके कारण नगर निकाय मोरलैंड रोड पर निर्माण कार्य नहीं कर पा रहा है. Also Read - Mumbai का यह बड़ा अस्‍पताल COVID19 हॉस्‍प‍िटल में तब्‍दील, यहां गैर कोरोना मरीज नहीं होंगे भर्ती

उन्होंने बताया कि पुलिस ने इस संबंध में भारतीय दंड संहिता की धाराओं 341 (गलत तरीके से रोकना) और 34 (साझा आपराधिक इरादा) और बीएमसी कानून की धारा 313 और 314 के तहत मामला दर्ज किया गया है. गणतंत्र दिवस के बाद से नागपाडा में मोरलैंड रोड पर सैकड़ों महिलाएं दिल्ली के शाहीन बाग में जारी प्रदर्शन की ही तरह सीएए और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन कर रही हैं. Also Read - Vaccine Shortage: मुंबई के 26 वैक्सीनेशन सेंटर्स बंद, टीकाकरण के लिए आवेदन से पहले देखें लिस्ट