Maharashtra Government extends the COVID19 lockdown till 30th June, full Guidelines: महाराष्ट्र सरकार ने राज्य में 30 जून तक COVID19 लॉकडाउन को बढ़ाया है. सरकारी आदेश में कहा गया है कि आवश्यक गतिविधियों को छोड़कर रात 9 बजे से सुबह 5 बजे के बीच लोगों की आवाजाही पर सख्ती से प्रतिबंध रहेगा. महाराष्ट्र सरकार ने कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लागू पाबंदियों में ‘मिशन बिगिन अगेन’ के तहत चरणबद्ध तरीके से ढील देने की रविवार को घोषणा की. राज्य में पांच जून से गैर निरुद्ध क्षेत्रों में सभी बाजार, बाजार क्षेत्रों और दुकानों को सम-विषम आधार पर खोलने की अनुमति है. हालांकि, धार्मिक स्थल, शॉपिंग मॉल, होटल, रेस्तरां आदि बंद रहेंगे.Also Read - Mumbai Fire UPDATE: मुंबई के तारदेव में आग के हादसे से मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 9 हुआ, 21 घायलों में से 5 गंभीर

बता दें कि इससे पहले केंद्र सरकार ने कोविड-19 निषिद्ध क्षेत्रों में लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ाए जाने की घोषणा की थी जिसके बाद राज्य अपने-अपने हिसाब से संशोधित दिशा-निर्देश जारी कर रहे हैं. महाराष्ट्र सरकार ने 30 जून तक बढ़ाए गए लॉकडाउन का नाम ‘‘मिशन बिगिन अगेन’’ दिया है. Also Read - बाप ने 17 साल की बेटी तांत्रिक को ‘दान’ की थी, हाईकोर्ट ने कहा, बेटी को संपत्ति नहीं, जिसे दान में दिया जाए

महाराष्ट्र सरकार के दिशानिर्देश में कहा है कि अनलॉक 1 चरण में समुद्र तटों, खेल के मैदानों, उद्यानों और खुले सार्वजनिक स्थानों पर सुबह 5 बजे से शाम 7 बजे के बीच व्यक्तिगत शारीरिक अभ्यास की अनुमति होगी. महाराष्ट्र सरकार ने कहा है कि धार्मिक व पूजा स्थल, होटल, रेस्तरां, आतिथ्य सेवाएँ, शॉपिंग मॉल, नाई की दुकानें, स्पा, सैलून और ब्यूटी पार्लर राज्य भर में बंद रहेंगे. 8 जून से सभी निजी कार्यालय आवश्यकता के अनुसार 10% तक अटेंडेंस के साथ काम कर सकते हैं, शेष व्यक्ति घर से काम कर सकते हैं. जिले के अंदर बस सेवाओं की अनुमति दी जाएगी, जबकि एक जिले से दूसरे जिले में बस सेवाओं की अनुमति नहीं होगी. Also Read - Wine at Supermarket: संजय राउत का तर्क, किसानों की आमदनी दोगुना करने को उठाया कदम

राज्य सरकार ने सुबह की सैर, साइकिल चलाने जैसी बाहरी गतिविधियों की अनुमति दी है. इसके अतिरिक्त लोग सार्वजनिक स्थानों में भी व्यायाम कर सकते हैं. नए दिशा-निर्देशों के अनुसार, सभी निजी कार्यालय आठ जून से अपनी जरूरत के हिसाब से 10 प्रतिशत तक कर्मचारियों के साथ काम शुरू कर सकते हैं, शेष कर्मचारी घर से ही काम करेंगे. राज्य सरकार के कार्यालयों में 15 प्रतिशत कर्मचारियों अथवा 15 कर्मचारियों, जो भी अधिक हो, उनसे काम शुरू किया जाएगा.

नल ठीक करने, बिजली ठीक करने और कीट नियंत्रण जैसे काम करने वाले लोगों को काम करने की अनुमति दी जाएगी, लेकिन उन्हें सामाजिक दूरी के नियम का पालन करना होगा. गैरेज भी काम शुरू कर सकते हैं और ग्राहक
पहले से समय ले कर वहां जा सकते हैं.

जिले के भीतर बस सेवा को अनुमति दी गई है. लेकिन ये बसें क्षमता से केवल 50 प्रतिशत ही भरी जाएंगी. जिलों के बीच बस सेवा अभी बंद रहेंगी.

इसमें कहा गया है मुंबई, सोलापुर, पुणे, औरंगाबाद, मालेगांव, नासिक, धुले, जलगांव, अकोला, अमरावती, नागपुर और मुंबई महानगर क्षेत्र के रेड जोन में इन गतिविधियों को अनुमति दी जाएगी. हालांकि, इस तरह की गतिविधियां
निरुद्ध क्षेत्रों में शुरू नहीं होंगी.

सिनेमा हॉल, व्यायामशाला, स्विमिंग पूल, सार्वजनिक पार्क, थिएटर, बार, ऑडिटोरियम, असेंबली हॉल, धार्मिक स्थल, ब्यूटी पार्लर, नाई की दुकान, सैलून, शॉपिंग मॉल, होटल, रेस्तरां और अन्य आतिथ्य सेवाएं शुरू करने की
अनुमति नहीं होगी.

महाराष्ट्र में पांच जून से मॉल को छोड़कर बाजारों और दुकानों को खोलने की इजाजत, वहीं निजी दफ्तर आठ जून से 10 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ काम कर सकते हैं. महाराष्ट्र सरकार ने स्पष्ट किया कि पाबंदियों में ढील और चरणबद्ध तरीके से कामकाज की बहाली अभी कोविड-19 निरुद्ध क्षेत्रों में नहीं होगी.

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने लॉकडाउन में और अधिक छूट संबंधी शनिवार को जारी नए दिशा-निर्देशों को लॉकडाउन हटाने का प्रथम चरण (अनलॉक 1) बताया है. देश में 25 मार्च से जारी राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन का चौथा चरण 31 मई को समाप्त हो रहा है. नए दिशा-निर्देशों में केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने कहा कि निषिद्ध क्षेत्रों से बाहर जिन गतिविधियों पर पाबंदी लगी थी, उन्हें एक जून से चरणबद्ध तरीके से शुरू किया जाएगा. मंत्रालय ने निषिद्ध क्षेत्रों में राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ाने की घोषणा की. साथ ही कहा कि आठ जून से आतिथ्य सत्कार (हॉस्पिटैलिटी) सेवाओं, होटलों और शॉपिंग मॉल को खोलने की अनुमति होगी.