नागपुर: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने राकांपा प्रमुख शरद पवार के के इस दावा कि भाजपा के नेता अन्य दलों के सदस्यों को अपने पाले में करने में जुटे हैं, को लेकर रविवार को पलटवार किया. फड़णवीस ने कहा कि राष्ट्रवादी कांग्रेस प्रमुख पवार को इस बात को लेकर आत्मनिरीक्षण करना चाहिए कि क्यों लोग उनकी पार्टी को छोड़ रहे हैं.

इससे पहले दिन में पवार ने पुणे में कहा था कि फड़णवीस और उनके मंत्री विधानसभा चुनाव से पहले जांच एजेंसियों और सरकारी वित्तीय बोर्डों का दुरूपयोग कर विपक्षी नेताओं को अपने पाले में करने में लगे हुए हैं. फड़णवीस ने दावा किया कि भाजपा ‘किसी के पीछे नहीं भागती’ क्योंकि भारत के लोग पार्टी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व के साथ हैं. पवार के बयान को लेकर पूछे गये एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि शरद पवार को इस बात को लेकर आत्मनिरीक्षण करना चाहिए कि क्यों उनके लोग राकांपा में बने रहने के लिए तैयार नहीं हैं.

महाराष्‍ट्र में एनसीपी-कांग्रेस के बीच 240 सीटों पर सहमति बनी: शरद पवार

भाजपा का रूख बिल्कुल स्पष्ट
उन्होंने कहा कि भाजपा का रूख बिल्कुल स्पष्ट है. कांग्रेस और राकांपा के ढेर सारे नेता भाजपा में शामिल होने के लिए तैयार हैं. लेकिन बहुत कम को शामिल होने की इजाजत मिलेगी. जिन पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के मामले चल रहे हैं उन्हे पार्टी में नहीं लिया जाएगा. हमें ऐसे लोगों की जरूरत नहीं है. फड़णवीस ने कहा कि भाजपा को किसी को जुड़ने के लिए उस पर दबाव डालने की जरूरत नहीं है.

लोग भाजपा के पीछे भागते हैं हम नहीं: फडणवीस
उन्होंने कहा कि हम किसी के पीछे नहीं भागते. अब लोग भाजपा के पीछे भागते हैं. हम उन लोगों का ख्याल करते हैं जो अच्छे हैं और लोगों के लिए काम करते हैं. उन्होंने दावा किया कि वह राकांपा प्रमुख को याद दिलाना चाहते हैं कि उनकी पार्टी के नेताओं की कई चीनी फैक्ट्रियों की सरकार एवं राज्य के बैंकों ने तब मदद की जब वे मुश्किल में थे. हालांकि हमने उनसे कभी भाजपा में शामिल होने के लिए नहीं कहा. उन्हें आत्मनिरीक्षण करना चाहिए. (इनपुट एजेंसी)