मुंबई: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ( CM Uddhav Thackeray) ने शुक्रवार को कहा कि गणेश मंडलों को आने वाले गणेश महोत्सव में पंडालों में चार फुट से ज्यादा ऊंची गणेश प्रतिमा नहीं लगानी चाहिए. ठाकरे ने इससे पहले गणेश महोत्सव से जुड़े आयोजन करने वाले गणेश मंडलों से अपील की थी कि वे कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए इस साल सादे-सरल तरीके से ही उत्सव का आयोजन करें.Also Read - Mumbai Fire UPDATE: मुंबई के तारदेव में आग के हादसे से मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 9 हुआ, 21 घायलों में से 5 गंभीर

राज्य में गणेश महोत्सव की शुरुआत 22 अगस्त से होनी है. मुंबई में गणपति की ऊंची-ऊंची प्रतिमाएं स्थापित करने का खास चलन है. ठाकरे ने कहा कि मुंबई और पुणे में लोग बड़ी और ऊंची गणेश प्रतिमाओं को देखने के लिए बड़ी संख्या में आते हैं और ऐसे में महामारी में इस भीड़ से बचा जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि ऊंची प्रतिमाओं के लिए बड़ी संख्या में स्वयंसेवकों की भी जरूरत पड़ती है. Also Read - बाप ने 17 साल की बेटी तांत्रिक को ‘दान’ की थी, हाईकोर्ट ने कहा, बेटी को संपत्ति नहीं, जिसे दान में दिया जाए

मुख्यमंत्री ने कहा कि अगस्त में आयोजित होने वाली दही-हांडी (जन्माष्टमी) उत्सव को भी रद्द कर दिया गया है और व्यापक स्तर पर इसका आयोजन करने वाले शिवसेना के विधायक प्रताप सरनायक ने इसके बदले कोरोना राहत कोष में एक करोड़ रुपये का दान दिया है. Also Read - Wine at Supermarket: संजय राउत का तर्क, किसानों की आमदनी दोगुना करने को उठाया कदम

देश में कोरोना माहामारी की मार सबसे ज्यादा महाराष्ट्र राज में है. मुंबई कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित है इसलिए सीएम लोगों से साधारण तरीके से त्योहार को मनाने की अपील की इसके साथ ही उन्होंने उन सभी उपायों को भी अपनाने के लिए कहा जिससे कोरोना के संक्रमण को रोका जा सके.