मुंबई: देश में कोरोना वायरस की सबसे ज्यादा मार महाराष्ट्र पर पड़ी है. महाराष्ट्र में रविवार को कोविड-19 के 440 नये मामले आने के साथ राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या आठ हजार से अधिक हो गई है. वहीं राज्य में कोरोना वायरस के संक्रमण से अब तक 342 लोगों की जान गई है. Also Read - महाराष्ट्र में कोरोना के 2287 नए मामले सामने आए, 103 और मरीजों की मौत

वहीं महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को कहा कि राज्य में लागू पाबंदियों में ढील देने का निर्णय तीन मई को देशव्यापी लॉकडाउन समाप्त होने पर स्थिति की समीक्षा करने के बाद लिया जाएगा. राज्य में कोरोना वायरस की स्थिति को लेकर टेलीविजन पर अपने संबोधन में उन्होंने ये विचार रखे. ठाकरे ने कहा, “तीन मई तक बढ़ाए गए लॉकडाउन की स्थिति की समीक्षा अगले सप्ताह की जाएगी. उसके बाद हम लॉकडाउन में ढील देने के कदम पर निर्णय लेंगे.” Also Read - Cyclone Nisarga: महाराष्ट्र CM उद्धव ठाकरे की अपील, अगले दो दिनों तक घर के अंदर ही रहें लोग

स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि राज्य में अब तक 8,068 लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. उन्होंने बताया कि संक्रमण की वजह से 19 और लोगों की मौत के साथ राज्य में अब तक कोविड-19 से जान गंवाने वालों की संख्या 342 हो गई है. अधिकारी ने बताया कि अब तक 1,188 मरीज संक्रमण मुक्त हो चुके हैं और उन्हें अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई है. Also Read - अगस्त-सितंबर में टीम इंडिया का कैंप लगाने के बारे में सोच रही है बीसीसीआई

ठाकरे ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को भी उनके कथन के लिए धन्यवाद दिया, जिसमें गडकरी ने कहा था कि किसी भी प्रकार की राजनीति करने का यह सही समय नहीं है. ठाकरे ने कहा, “गडकरी जी ने परोक्ष रूप से कहा कि कुछ लोग गंदी राजनीति कर रहे हैं. इसके लिए उनका लाख बार धन्यवाद. सभी लोगों से मुझे समर्थन देने को कहने के लिए उनका धन्यवाद. कोरोना वायरस के विरुद्ध लड़ाई में आपने लोगों से मेरा समर्थन करने को कहा.” इससे पहले राज्य में कोरोना वायरस से उपजी स्थिति को लेकर भाजपा नेता और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने महा विकास आघाडी सरकार की आलोचना की थी.

(इनपुट भाषा)