मुंबई: यहां की झुग्गी कॉलोनी धारावी में कोरोना वायरस संक्रमण के 13 नए मामलों की पुष्टि हुई. इसके साथ ही क्षेत्र में कोरोना मामलों की कुल संख्या बढ़कर 288 हो गई है. बीएमसी अधिकारी न सोमवार को ये जानकारी दी. बता दें कि मुंबई में कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के प्रयासों के लिए शहर की झुग्गी-बस्तियां बड़ी चुनौती पेश कर रही हैं, जिनमें एक करोड़ 20 लाख की कुल आबादी वाले शहर की आधी से अधिक जनसंख्या बेहद छोटी जगहों एवं अस्वच्छ परिस्थितियों में रहती है. Also Read - Complete Lockdown In India! थम नहीं रहा कोरोना का कहर, क्या संपूर्ण लॉकडाउन है विकल्प? सरकार ने भी दिये संकेत- क्या कहते हैं आंकड़े

इससे पहले धारावी में रविवार को संक्रमण के 34 मामले सामने आए थे जो एक दिन में कोविड-19 के मामलों का अब तक का सबसे अधिक आंकड़ा है. रविवार की तुलना में सोमवार को मामलों में गिरावट देखने को मिली. अधिकारी ने बताया कि कुल 288 मामलों में से अब तक 14 लोगों की मौत हो चुकी है. संक्रमण के नए मामले धारावी के मुकुंद नगर, मदीना नगर, मुस्लिम नगर, विजय नगर, प्रेम नगर, इंदिरा नगर और शास्त्री नगर सहित घनी आबादी वाले कई इलाकों में दर्ज किए गए हैं. धारावी में एक अप्रैल को संक्रमण का पहला मामला सामने आया था. Also Read - Video: हवा में उड़ते ही निकला एयर एंबुलेंस का पहिया, फिर ऐसे हुई लैंडिंग; सभी सुरक्षित

वहीं महाराष्ट्र में सोमवार को कोविड-19 के 522 नये मामले सामने आए जिससे रोगियों की कुल संख्या अभी तक 8590 हो गई है. यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने दी. उन्होंने कहा कि राज्य में 27 और लोगों की मौत के साथ ही कोरोना वायरस से मरने वालों की कुल संख्या 369 हो गई है. कोरोना वायरस के संक्रमण से ठीक हुए लोगों की संख्या 1282 है. Also Read - Coronavirus: देश में कब थमेगा कोरोना का कहर? जानें क्या कहते हैं विशेषज्ञ....

देश में कोविड-19 के 1,463 नए मामले आने के साथ कुल मामलों की संख्या सोमवार शाम तक बढ़कर 28,380 हो गई और पिछले 24 घंटों में इस बीमारी से 60 मौतें हुई हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी दी है. कुल मामलों में से 21,132 सक्रिय मामले हैं. 6,361 लोग ठीक हो चुके हैं और 886 लोगों ने इस बीमारी से जान गंवाई है. सबसे ज्यादा महाराष्ट्र में 342 मौतें दर्ज की गई हैं. इसके पड़ोसी गुजरात में 151, मध्य प्रदेश में 106 और नई दिल्ली में 54 मौतें हुई हैं.