Maharashtra, Lockdown, COVID-19 News: महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Govt) ने राज्य में बढ़ते COVID​​-19 के मामलों के बीच राज्य में प्रशासन को ऐसे लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया है, जो बिना मास्क के पाए जाते हैं. वहीं, लॉकडाउन लगाने का फैसला जिला करेगा. महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने शुक्रवार को कहा कि उन्होंने राज्य में प्रशासन को निर्देश दिया है कि कोविड- 19 महामारी ​​के बीच सार्वजनिक रूप से बिना मास्क के पाए जाने वाले लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए. Also Read - इस वजह से 85 फीसदी महिलाएं वेतन वृद्धि, Promotion से चूक जाती हैं...

जरूरत पड़ने पर सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक लॉकडाउन
एक कार्यक्रम में भाग लेने के बाद शिवनेरी किले में पत्रकारों से बात करते हुए पवार ने कहा कि जिला प्रशासन को अपने संबंधित जिलों में स्थिति का आंकलन करने और जरूरत पड़ने पर सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक लॉकडाउन लगाने के लिए अधिकृत किया गया है. उपमुख्यमंत्री ने कहा, ”मैं 21 फरवरी को पुणे में एक बैठक की अध्यक्षता करने जा रहा हूं, जिसमें वायरस के प्रसार को रोकने के उपायों पर चर्चा होगी.” उन्होंने कहा कि राज्य के कुछ जिलों में कोविड-19 के मामलों में वृद्धि चिंता का विषय है. Also Read - भारत में कोरोना संक्रमण ने फिर पकड़ी रफ्तार, 24 घंटे में COVID-19 के 14,989 नए केस आए

महाराष्ट्र में कल आए थेे कोविड-19 के 6,112 नए मामले
बता दें कि महाराष्‍ट्र में शुक्रवार को महाराष्ट्र में कोविड-19 के संक्रमण के 6,112 नए मामले सामने आए थे और 44 मौतें हुईं मौतें हुईं थी. राज्‍य में कोरोना वायरस कुल मामले 20,87,632 हैं, जबकि 19,89,963 लोग ठीक हो चुके हैं. कल एक्टिव मरीजों की संख्‍या 44,765 थी और कुल मौतों का आंकड़ा 51,713 के पार हो गया. Also Read - IPL 2021: दर्शकों के बिना आईपीएल का आयोजन कराना चाहती हैं फ्रेंचाइजी; Punjab Kings के मालिक ने दिया बड़ा बयान

उद्धव ठाकरे बोले-कोरोना के खिलाफ लड़ाई में मास्क ही एकमात्र बचाव का तरीका
वहीं, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा मास्क पहनना ही कोविड-19 के खिलाफ बचाव का एकमात्र तरीका है. सीएम उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को कहा कि छत्रपति शिवाजी महाराज के समय में युद्ध लड़ने के लिए तलवार और ढाल का इस्तेमाल होता था, लेकिन कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में मास्क ही एकमात्र बचाव का तरीका है.उन्होंने छत्रपति शिवाजी महाराज को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि देने के लिए पुणे जिले के जुन्नार तहसील में शिवनेरी किले का दौरा किया.

महाराष्ट्र में कोविड-19 के मामलों में वृद्धि : राकांपा के मंत्रियों का ‘जनता दरबार’ कार्यक्रम स्थगित
महाराष्ट्र में पिछले कुछ दिनों में कोविड-19 के मामलों में बढ़ोतरी के कारण राकांपा के मंत्रियों के ‘जनता दरबार’ कार्यक्रम को दो सप्ताह के लिए टाल दिया गया है. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने एक बयान में कहा कि लोग इस अवधि में ई-मेल के जरिए अपनी शिकायतें भेज सकते हैं. राकांपा के दो मंत्रियों जयंत पाटिल और राजेश टोपे ने बृहस्पतिवार को कहा था कि वे कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए हैं. राकांपा पिछले साल अगस्त से ही जनता दरबार कार्यक्रम का आयोजन कर रही थी.