यवतमाल: महाराष्ट्र के यवतमाल जिले में एक एमएलए और उसकी दूसरी पत्‍नी की पिटाई उसकी पहली पत्‍नी के साथ आई भीड़ ने कर दी. पहली पत्‍नी और उसके साथ आई समर्थकों की भीड़ ने कहा कि दूसरी पत्‍नी रखने वाले विधायक को पीएम नरेंद्र मोदी की होने वाली सभा में मंच साझा नहीं करने दिया जाए. अर्नी क्षेत्र से बीजेपी विधायक राजू नारायण तोड़साम और उनकी ‘दूसरी पत्नी’ की भीड़ ने सड़क पर पिटाई कर दी और कहा कि उन्हें शनिवार को महाराष्ट्र में यवतमाल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मंच साझा करने की इजाजत नहीं दी जानी चाहिए. घटना उस वक्त की है, जब बीजेपी विधायक अपनी ‘दूसरी पत्नी’ प्रिया शिंदे-तोड़साम के साथ एक खेल टूर्मामेंट का उद्घाटन कर लौट रहे थे. Also Read - PM Modi Visit: कोरोना वैक्सीन की समीक्षा करने अहमदाबाद के Zydus Biotech Park पहुंचे पीएम मोदी

Also Read - Corona Vaccine: पीएम मोदी आज देश के 3 वैक्सीन सेंटर्स का करेंगे दौरा, कर सकते हैं ये बड़ी घोषणा

लोकसभा में जलियांवाला बाग राष्ट्रीय स्मारक संशोधन विधेयक 2018 मंजूर, वाम दलों और कांगेस ने किया वॉक आउट Also Read - चक्रवात निवार : प्रधानमंत्री मोदी ने तमिलनाडु के मुख्यमंत्री पलानीस्वामी से की बात, मुआवजे का ऐलान

प्रिया शिंदे और पार्टी समर्थक तोड़साम के 42वें जन्मदिन का जश्न मना रहे थे कि, तभी विधायक की पहली पत्नी अर्चना तोड़साम और उनकी सास कुछ समर्थकों के साथ उनके वाहनों के समीप पहुंचीं और ‘दूसरी पत्नी’ को भला बुरा कहा. कुछ देर चली जुबानी जंग के बाद अर्चना और उनकी सास ने प्रिया को थप्पड़, लात और घूंसे मारने शुरू कर दिए. प्रिया हाथ जोड़कर दया के लिए चिल्लाती रहीं. जब तोड़साम ने प्रिया शिंदे को बचाने का प्रयास किया तो उनपर उनकी मां व पहली पत्नी और गुस्साए लोगों ने हमला कर दिया. लोग अर्चना के लिए न्याय की मांग कर रहे थे. अर्चना एक जनजातीय स्कूल अध्यापिका हैं.

मेघालय सरकार ने कक्षाओं के मुताबिक तय किया स्कूली बच्‍चों के बस्तों का वजन

प्रत्यक्षदर्शी द्वारा बनाया गया घटना का वीडियो वायरल हो गया. भाजपा विधायक की व्यापक आलोचना हो रही है और अर्चना को सहानुभूति मिल रही है. तोड़साम से आईएएनएस ने कई बार संपर्क करने की कोशिश की लेकिन उनसे बात नहीं हो सकी.

किसान नेता और वसंतरा नाइक शेती स्वावलंबन समिति के अध्यक्ष किशोर तिवारी ने घटनाक्रम पर गंभीर राय व्यक्त करते हुए कहा कि विधायक का ‘दूसरी पत्नी’ के साथ सार्वजनिक रूप से बाहर आना ‘बेशर्मी भरा व्यवहार’ है.

सारदा चिटफंड घोटाला: CBI के सामने लगातार 5वें दिन पेश हुए कोलकाता पुलिस कमि‍श्‍नर

तिवारी ने बुधवार को मीडिया से कहा, “उन्हें पहली पत्नी और अपने दो नाबालिग बच्चे को न्याय देना चाहिए, जिन्हें उन्होंने दूसरी महिला के लिए छोड़ दिया है. उन्होंने अर्चना से आठ साल पहले शादी की थी. अगर वह 48 घंटे के भीतर बात नहीं मानते हैं तो हम प्रधानमंत्री से अपील करेंगे कि वे शनिवार को अपनी पंधारकावाडा यात्रा में इस मुद्दे को हल करें.”

घटना के थोड़ी देर बाद पुलिस वहां पहुंची और गुस्साई भीड़ के बीच से तोड़साम और प्रिया शिंदे को सुरक्षित बाहर निकालने में सफल रही. पुलिस ने प्रिया को अस्पताल में भर्ती कराया. उन्हें चेहरे पर चोट आई है.

पंधारकावाडा पुलिस थाने के एक अधिकारी डी.एस. तेम्भारे ने सार्वजनिक रूप से हुए हंगामे की पुष्टि करते हुए बताया कि प्रिया और अर्चना दोनों महिलाएं अपनी सास के साथ बाद में पुलिस थाने आई थीं और उन्होंने अपने विवाद को आपसी सहमति से सुलझाने की बात कही. इसलिए कोई औपचारिक शिकायत नहीं दर्ज हुई है.