मुंबई: महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को होने जा रहे विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने शनिवार को राकांपा प्रमुख और पूर्व केंद्रीय कृषि मंत्री शरद पवार और उनकी नीतियों को राज्य में किसानों की आत्महत्या के लिए जिम्मेदार ठहराया.

उन्होंने विदर्भ क्षेत्र में अकोला जिले के अकोट तहसील में एक रैली में आरोप लगाया, ‘किसानों की आत्महत्या शरद पवार और महाराष्ट्र में उनकी सरकार का पाप है. यह उन्हीं के शासनकाल मे शुरू हुआ और उसी दौरान उसमें तेजी आई.’

पीएमसी खाताधारकों ने जाहिर किया दुख, फडणवीस ने कहा- प्रधानमंत्री से करता हूं बात

पवार पर प्रहार करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, ‘पवार विदर्भ में अपनी रैलियों में किसानों की आत्महत्या की बात कर रहे हैं. मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि जब किसानों ने आत्महत्या करना शुरू किया तब महाराष्ट्र में सत्ता में कौन था.’

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘आपने ही विदर्भ क्षेत्र को पानी की आपूर्ति रोकी. आप केंद्र में मंत्री थे और आप पिछले 15 साल (1999-2004) तक महाराष्ट्र में सत्ता में थे. आपके भ्रष्ट तरीकों से ही विदर्भ के किसानों से जुड़ी राशि की हेराफेरी हुई. आपने ही इस क्षेत्र में सिंचाई धीमी कर दी, किसान आत्महत्या करने के लिए बाध्य हो गए.’

बाला साहब की गिरफ्तारी को अजित पवार ने बताई भूल, संजय राउत ने की माफी की मांग

फड़णवीस ने कहा कि राज्य के जिन क्षेत्रों में पानी सिंचाई के लिए सहजता से उपलब्ध है वहां किसानों की आत्महत्या नजर नहीं आती है लेकिन जिन क्षेत्रों में सिंचाई ढंग से नहीं हो पाती है वहीं बड़ी संख्या में ऐसी घटनाओं की प्रवृति सामने आती हैं.

(इनपुट-भाषा)