नांदेड़: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़णवीस ने कांग्रेस और राकांपा का मजाक उड़ाते हुए शनिवार को कहा कि उन्हें लगता है कि राज्य के विधानसभा चुनाव के बाद नेता प्रतिपक्ष ‘वंचित बहुजन अघाड़ी’ (वीबीए) से हो सकता है. कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के कई नेता सत्तारूढ़ भाजपा-शिवसेना गठबंधन में जा चुके हैं.

‘वंचित बहुजन अघाड़’ का गठन ‘भारिप बहुजन महासंघ’ नेता प्रकाश आंबेडकर और एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन औवेसी ने इस साल हुए लोकसभा चुनाव से पहले किया था. वीबीए को राज्य की 48 लोकसभा सीटों में से सिर्फ एक सीट पर ही जीत मिली थी. लेकिन उसे बड़ी संख्या में वोट मिलने का बाद कांग्रेस और राकांपा ने कहा था कि इससे भाजपा को फायदा हुआ. कांग्रेस और राकांपा ने “वीबीए को भाजपा की बी टीम” करार दिया था.

कांग्रेस-राकांपा पर बोला हमला
फड़णवीस से जब यहां संवाददाता सम्मेलन में इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि “वंचित बहुजन अघाड़ी को भाजपा की ‘बी’ टीम करार देने वाली कांग्रेस-राकांपा खुद ही भाजपा की ‘बी’ टीम बन रही हैं और वंचित बहुजन अघाड़ी ‘ए’ टीम बनती जा रही है. उन्होंने कहा कि अब, मुझे लगता है कि अगली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष वंचित बहुजन अघाड़ी से होगा.