नागपुर: महाराष्ट्र के नागपुर शहर में मंगलवार को अपने पति और दो नाबालिग बच्चों की हत्या के बाद 41 वर्षीय एक महिला डॉक्टर ने आत्महत्या कर ली. पुलिस ने घटनास्थल से दो सिरिंज और एक सुसाइड नोट बरामद किया है, जिसमें सुषमा ने लिखा है कि उसने यह कदम इसलिए उठाया क्योंकि वह खुश नहीं थी. Also Read - यूपी: शादी के बाद पत्‍नी ने धर्म परिवर्तन से किया इनकार, तो पति ने गला काटकर कर दी हत्‍या

पुलिस के अनुसार, कोराडी इलाके के ओम नगर स्थित अपने घर में डॉ सुषमा राणे, इंजीनियरिंग कॉलेज में प्रोफेसर उनके पति धीरज (42) और उनके 11 और पांच साल के दो बच्चे मृत पाए गए. Also Read - अनुराग कश्यप पर रेप का आरोप लगाने वाली पायल घोष को है खुद के मर्डर का डर, बोलीं- किसी दिन छत से लटकी....

कोराडी पुलिस स्टेशन के एक अधिकारी ने बताया कि धीरज और बच्चों के शव मुख्य शयनकक्ष के बिस्तर पर पाए गए, जबकि डॉक्टर का शव छत के पंखे से लटका मिला. Also Read - नगमा ने NCB पर उठाए सवाल, ड्रग्स के लिए कंगना को समन क्यों नहीं भेजती?

पुलिस अधिकारी ने कहा कि साथ में रहने वाली मृतक की 60 वर्षीय बूढ़ी चाची ने कमरे का दरवाजा खटखटाया और उन्हें कोई जवाब नहीं मिला. पुलिस ने घटनास्थल से दो सिरिंज और एक सुसाइड नोट बरामद किया है, जिसमें डॉक्‍टर सुषमा राणे ने कथित रूप से कहा है कि उसने यह कदम इसलिए उठाया क्योंकि वह खुश नहीं थी.

पुलिस अधिकारी ने कहा कि प्रारंभिक जांच से पता चलता है कि डॉक्‍टर सुषमा ने अपने पति और बच्चों को बेहोश करने के लिए खाने में कुछ मिलाकर दिया था और उसके बाद उसने अपने बच्चों और पति को अज्ञात दवा खिला दी. उन्होंने कहा कि शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है और इस संबंध में आईपीसी के प्रासंगिक प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया गया है.