देश में जारी कोरोना संकट (Coronavirus) के बीच नए साल के जश्न (New Year Celebration) को लेकर तमाम तरह की सावधानियां बरतीं जा रही हैं. कुछ राज्यों ने नए साल की पूर्व संध्या यानी 31 अक्टूबर को कई राज्यों में नाइट कर्फ्यू (Night Curfew) की भी घोषणा की गई है. उधर, मुंबई पुलिस ने इसे लेकर खास तैयारियां की है.Also Read - Mumbai Police ने Ranveer Singh की फिल्म '83' के डायलॉग का ऐसे किया इस्तेमाल, Viral हुआ पोस्ट

मुंबई पुलिस ने कोरोना काल में ड्रंकेन ड्राइव (Drunken Drive) पर नकेल कसने के लिए एल्कोमीटर (सांस के नमूने से शराब की मात्रा जांचने वाली मशीन) की जगह, ब्लड टेस्ट करने का फैसला लिया है. कोरोना वायरस की वजह से एल्कोमीटरक का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा. पुलिस को जिस किसी पर शक होगा उसका ब्लड टेस्ट किया जाएगा. Also Read - Mumbai: पूर्व पुलिस कमिश्नर Param Bir Singh क्राइम ब्रांच ऑफिस पहुंचे, भगौड़ा घोषित हुए थे

पुलिस के अनुसार, अगर खून की जांच में रिजल्ज पॉजिटिव आया तो शख्स के खिलाफ मोटर व्हीकल एक्ट के तहत मामला दर्ज किया जाएगा. ऐसी सूरत में न सिर्फ बाइक या कार चलाने वाले ड्राइवर बल्कि उसके साथ बैठे व्यक्ति पर भी केस दर्ज किया जाएगा. Also Read - परमबीर सिंह के वकील ने सुप्रीम कोर्ट को बताया-मुंबई पुलिस से जान का खतरा है, इसीलिए वो छुपे हुए हैं

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि नववर्ष की पूर्व संध्या पर किसी भी अप्रिय घटना की आशंका को देखते हुए और कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए मुंबई की सड़कों पर करीब 35,000 पुलिसकर्मियों को तैनात किया जाएगा. मुंबई पुलिस के प्रवक्ता डीसीपी एस चैतन्य ने कहा, ‘हम लोग बेहद चौकसी बरत रहे हैं. नववर्ष पर किसी भी तरह की अप्रिय घटना और संभावित आतंकी गतिविधियों को रोकने के लिए कदम उठाए गए हैं.’ उन्होंने कहा, ‘शहर में पुलिस की पर्याप्त तैनाती है। महत्वपूर्ण सड़कों पर नाकाबंदी की गई है.’

महाराष्ट्र सरकार ने कोविड-19 महामारी (Covid-19 Pandemic) के मद्देनजर 11 बजे रात और सुबह 6 बजे के बीच नाइट कर्फ्यू लगाया है, जिसके कारण पांच या ज्यादा लोगों के एक जगह जमा होने पर पाबंदी है. उन्होंने कहा, ‘सार्वजनिक स्थानों पर पांच से ज्यादा लोगों को जमा होने की अनुमति नहीं दी जाएगी. रात में 11 बजे के बाद होटल, बार, पब या रेस्तरां में पार्टी करने की इजाजत नहीं होगी.’

शहर में निर्धारित समय के बाद ‘बोट पार्टी’ या छत पर पार्टी की अनुमति नहीं होगी. उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सीआरपीसी की धारा 144 के तहत कार्रवाई की जाएगी. अधिकारी ने कहा कि पुलिस, राज्य रिजर्व पुलिस बल (SRPF) के कर्मियों के अलावा होमगार्ड की भी तैनाती की जाएगी. अपराध शाखा और मादक पदार्थ रोधी प्रकोष्ठ (ANC) के कर्मी भी निगरानी करेंगे.

(इनपुट: एजेंसी)