मुंबई: ड्रग नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) आज बुधवार को बॉलीवड फिल्म निर्माता मधु मंटेना का मादक पदार्थों के कथित गठजोड़ से जुड़े मामले में बयान रिकॉर्ड कर रही है. फिल्म निर्माता मधु मंटेना बॉलीवड ड्रग कनेक्‍शन के मामले में अपना बयान दर्ज कराने के लिए बुधवार को ड्रग नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) के अतिथि गृह पहुंचे. एनसीबी इस मामले की जांच कर रही है. Also Read - मुंबई: रात में वेब-सीरीज देख रहा था 18 साल का लड़का, बि‍ल्‍डिंग गिरते देख बचा ली 75 लोगों की जान

एक अधिकारी ने बताया कि एनसीबी ने मंटेना को पूछताछ के लिए तलब किया था. अधिकारी ने बताया कि फिल्म निर्माता मधु मंटेना सुुुबह करीब साढ़े 11 बजे दक्षिण मुंबई स्थित एनसीबी के अतिथि गृह पहुंचे. Also Read - एक्ट्रेस कृति खरबंदा ने ख़ास अंदाज़ में मनाया जन्मदिन, 30 बच्चियों की पढ़ाई का खर्चा उठाया

बता दें कि कि फिल्म निर्माता मधु मंटेना 2016 में बनी बॉलीवुड फिल्म ‘उड़ता पंजाब’ के सह-निर्माता थे. उस फिल्म के जरिए नशे की समस्या को उठाया गया था. अधिकारी ने बताया कि एक्‍टर सुशांत सिंह राजपूत की टैलेंट मैनेजर जया साहा से पूछताछ के दौरान मंटेना का नाम सामने आया था. साहा से एनसीबी दो दिन से पूछताछ कर रही है. उन्हें बुधवार को भी बुलाया गया है.

राजपूत की मौत के मामले में नशीले पदार्थों के पहलू को लेकर एनसीबी की जांच के दौरान बॉलीवुड के कई लोग इस मामले में घिर गए हैं. एनसीबी ने मंगलवार को अभिनेत्री दीपिका पादुकोण की मैनेजर करिश्मा प्रकाश और क्वान टैलेंट मैनेजमेंट एजेंसी के सीईओ ध्रुव चितगोपेकर को भी तलब किया था, लेकिन प्रकाश खराब स्वास्थ्य के कारण एजेंसी के सामने पेश नहीं हो पाई थीं.

एनसीबी के अधिकारियों ने मंगलवार को कहा था कि वे आवश्यकता पड़ने पर पादुकोण को भी तलब कर सकते हैं. सूत्रों ने बताया कि कथित रूप से नशीले पदार्थों को लेकर व्हाट्सऐप पर की गई बातचीत एजेंसी की जांच के दायरे में हैं.