नागपुर: महाराष्ट्र विधानसभा के शीतकालीन सत्र की शुरुआत सोमवार को हंगामेदार रही और भाजपा विधायकों ने भगवा टोपियां पहनकर सदन में प्रवेश किया जिन पर ‘मी पण सावरकर’ (मैं भी सावरकर हूं) लिखा था. विधायकों ने सदन में प्रवेश करने से पहले सदन के परिसर के बाहर ‘मी पण सावरकर’ के नारे भी लगाए.

बता दें कि दिल्ली में शनिवार को कांग्रेस की एक रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने ”रेप इन इंडिया” टिप्पणी को लेकर भाजपा की माफी की मांग खारिज करते हुए कहा था कि उनका नाम राहुल गांधी है, ”राहुल सावरकर” नहीं और वह सच बोलने के लिए कभी माफी नहीं मांगेंगे.

बीजेपी ने इस टिप्पणी का कड़ा विरोध किया है. महाराष्ट्र विधानसभा में नेता विपक्ष देवेंद्र फडणवीस ने रविवार को कहा था कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी को अपनी ‘मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं’ वाली टिप्पणी के लिए बिना शर्त माफी मांगनी चाहिए.

राहुल ने सावरकर विरोधी टिप्पणी करके अपनी दादी का अपमान किया: शाहनवाज हुसैन
भाजपा के वरिष्ठ नेता शाहनवाज हुसैन ने रविवार रात मुंबई में कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने वीर सावरकर पर टिप्पणी कर अपनी दादी एवं दिवंगत प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी का अपमान किया है. हुसैन ने यह भी कहा कि अगर राहुल गांधी माफी भी मांगना चाहे तो भी देश उनकी टिप्पणियों के लिए उन्हें कभी माफ नहीं करेगा. उन्‍होंने मुंबई भाजपा का उपनगर बोरीवली से मार्च समाप्त होने पर दादर के शिवाजी पार्क में सावरकर स्मारक पर यह कहा.