नई दिल्लीः देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में इन दिनों बारिश से हालात काफी बिगड़ गए हैं. बुधवार को लगातार बारिश के बाद मुंबई के कई इलाकों में पानी भर गया. बीते 12 घंटों में मुंबई के कोलाबा इलाके में लगातार हुई बारिश ने बीते 46 सालों का रिकॉर्ड तोड़ दिया है. वहीं गुरुवार सुबह से भी यहां बारिश जारी है. ऐसे में मुबंई वासियों से अपने-अपने घरों में रहने की अपील की गई है. गुरुवार को मुंबई में तेज हवाओं, बारिश और दोपहर 1 बजकर 51 मिनट पर हाई टाइड का अलर्ट जारी किया गया है. जिसके चलते लोगों से अपील की गई है कि वह अपने घरों में ही रहें. Also Read - Bhiwandi Building Accident: हादसे में हल्ली गांव के एक ही परिवार के छह सदस्यों की मौत, पसरा मातम

बारिश से महाराष्ट्र में हालात इस कदर खराब हो गए हैं कि, राज्य के कई इलाकों में एनडीआरएफ की टीम तैनात की गई है. दक्षिण मुंबई के कई इलाके पानी से लबालब भरे हुए हैं, जिससे लोगों को आने-जाने में खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. Also Read - ड्रग्स केस में 'छपाक': दीपिका आज गोवा से लौटेंगी वापस, कल NCB के सवालों के चलेंगे बाण

मुंबई के हालातों को देखते हुए बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से बात की और मुंबई और आसपास के इलाकों में भारी बारिश के चलते उत्पन्न स्थिति पर चर्चा की और उन्हें हरसंभव मदद का आश्वासन दिया. बता दें मुंबई और इसके पड़ोसी जिलों ठाणे और पालघर में बुधवार को तेज हवाओं के साथ हुई भारी बारिश के चलते उपनगरीय ट्रेन एवं बस सेवाएं प्रभावित हो गईं हैं. मौसम खराब होने से जनजीवन भी अस्त व्यस्त हो गया है.

प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक ट्वीट में बताया गया कि, ‘‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मुंबई और आसपास के इलाकों में भारी बारिश के चलते उत्पन्न स्थिति पर बात की.’’ इसके मुताबिक प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री को हरसंभव मदद का आश्वासन दिया. वहीं, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री कार्यालय ने बुधवार देर रात कहा कि ठाकरे ने भारी बारिश के समय में नागरिकों की सुरक्षा के लिए उठाए जा रहे कदमों के बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अवगत कराया.

मुंबई में जारी बारिश के बीच बुधवार को दो लोकल ट्रेनों में करीब 290 यात्री ट्रेन में ही फंस गए. जिसके बाद एनडीआरएफ और रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) ने लोकल ट्रेनों में फंसे 290 यात्रियों को सुरिक्षत तरीके से बाहर निकाल लिया. मध्य रेलवे के मुख्य प्रवक्ता ने यह जानकारी दी.