Comedian Bharti Singh News: ड्रग्स रखने के आरोप में गिरफ्तार हुई मशहूर कॉमेडियन भारती सिंह (Bharti Singh) और उनके पति हर्ष लिंबाचिया (Haarsh Limbachiyaa) की जमानत याचिका पर आज सुनवाई होगी. मुंबई की अदालत ने रविवार को भारती और हर्ष को 4 दिसंबर तक न्यायिक हिरासत में भेजा था. आदेश सुनाए जाने के तुरंत बाद उन्होंने जमानत के लिए अर्जी दी थी, जिस पर सुनवाई होनी है. बता दें कि कॉमेडियन भारती सिंह (Bharti Singh) के घर से गांजा बरामद होने के बाद नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने शनिवार को पूछताछ के बाद उन्हें गिरफ्तार किया था. वहीं, रविवार को हर्ष लिम्बाचिया (Haarsh Limbachiyaa) को भी गिरफ्तार किया गया था. Also Read - मुंबई में NCB की बड़ी कार्रवाई, दाऊद से जुड़े ड्रग्स फैक्ट्री का भंडाफोड़, 12 किलोग्राम से ज्यादा मादक पदार्थ किया बरामद

गिरफ्तारी के बाद दोनों का मेडिकल करवाया गया और कोर्ट में पेश किया गया. अदालत ने भारती और हर्ष को 4 दिसंबर तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया था. बता दें कि नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने हर्ष लिंबाचिया को 15 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया गया था. Also Read - Sushant Singh Rajput death case: सुशांत सिंह मौत मामले की कवरेज पर हाई कोर्ट सख्त, कहा- कानून का उल्लंघन है ‘मीडिया ट्रायल’

NCB की मुंबई ब्रांच के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने कहा था कि भारती सिंह और हर्ष के खिलाफ ड्रग्स सेवन के आरोप में केस दर्ज किया गया है. NCB की पूछताछ में शनिवार को भारती सिंह और उनके पति हर्ष ने गांजा लेने की बात स्वीकारी थी. NCB को भारती सिंह के घर से छापेमारी के दौरान 86.5 ग्राम गांजा (Weed) भी मिला था. Also Read - Celebrity Spotted: कोई आया जिम के बाहर नजर, तो किसी ने साथ में किया डिनर...वीडियो में देखें सितारें की झलक

बता दें कि एक हजार ग्राम गांजा तक को छोटी मात्रा माना जाता है और इसके लिए छह महीने तक की जेल या 10,000 रुपये का जुर्माना या दोनों सजा हो सकती है. वाणिज्यिक मात्रा (20 किग्रा या इससे अधिक) होनेपर 20 साल तक की जेल हो सकती है. इसके बीच की मात्रा के लिए 10 साल की जेल की सजा हो सकती है.

बता दें कि एनसीबी पिछले कुछ महीनों से बॉलीवुड-ड्रग्स माफिया के बीच चल रही सांठगांठ को उजागर करने में जुटी है. इसे सामने लाने के लिए एनसीबी पिछले तीन महीनों से कोशिश कर रही है. यह मामला अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद शुरू हुआ जब 14 जून को वे बांद्रा में अपने अपार्टमेंट में मृत पाए गए थे.