नई दिल्ली। तपती गर्मी के बीच महाराष्ट्र और आसपास के इलाकों में बुधवार तक मानसून के पहुंचने की उम्मीद है. मुंबई में 7-8 जून तक बारिश होने की संभावना है. 9-10 जून तक मुंबई में भारी बारिश होगी. भारतीय मौसम विभाग के वैज्ञानिक अजय कुमार ने ये आंकड़े देते हुए कहा कि इस साल सामान्य मानसून रहेगा. मौसम विभाग के अनुमान को सही माना जाए तो मुंबई पर एक बार फिर भारी बारिश का खतरा मंडरा रहा है. यानि इस बार भी जलमग्न इलाकों के दृश्य सिस्टम को मुंह चिढाएंगे.

सोमवार को भी हुई बारिश

मुंबई में सोमवार को भी भारी बारिश हुई थी जिससे कई इलाकों में जलभराव हो गया और लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा. मानसून से पहले हुई इस बारिश ने आने वाले वक्त की तस्वीर दिखा दी. हर साल मुंबई में भारी बारिश होती है और हालात बिगड़ जाते हैं. पिछले साल भी यहीं ऐसी ही बारिश हुई और सरकार को कई बार अलर्ट जारी करना पड़ा. वो वाकया भी कोई भूला नहीं होगा जिसमें बॉम्बे हॉस्पिटल के नामी डॉक्टर दीपक अमरापुरकर की मेनहोल में गिरकर मौत हो गई थी. उनका शव अगले दिन मिला था. बारिश के चलते ऑफिस जल्द बंद कर दिए गए थे और लोगों से घर पर ही रहने को कहा गया था.

निचले इलाके हो जाते हैं जलमग्न

मौसम विभाग का अनुमान भी ऐसा ही अंदेशा जता रहा है. विभाग के मुताबिक 9-10 जून को मुंबई में भारी बारिश होगी. भारी बारिश में मुंबई का क्या हाल होता है ये किसी से छुपा नहीं है. मुंबई में 155 इलाके ऐसे हैं जहां बारिश में सड़कों पर पानी भर जाता है और आफत बढ़ जाती है. मुंबई के निचले इलाके दादर, वर्ली, बांद्रा, अंधेरी, जुहू, कुर्ला, सायन, परेल, एल्फिंस्टन, हिंदमाता पानी में डूब जाते हैं. इन इलाकों में पानी निकलने का कोई सुविधा नहीं होती जिससे हालात बिगड़ जाते हैं.

तेज गति से आगे बढ़ रहा मानसून

खास बात ये है कि इस बार मानसून सामान्य से तेज गति से आगे बढ़ रहा है. मानसून तय वक्त से तीन दिन पहले ही केरल पहुंच गया और अब इसी रफ्तार से आगे भी बढ़ रहा है. बुधवार तक ये महाराष्ट्र पहुंच जाएगा. इसी के साथ मुंबई और दूसरी जगहों पर झमाझम बारिश का दौर शुरू हो जाएगा. सोमवार को हुई बारिश ने बता दिया है कि इस बार हालात और मुश्किल हो सकते हैं.