मुंबई: महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने मंगलवार को कहा कि जेएनयू में छात्रों पर हुए हमले के विरोध में गेटवे ऑफ इंडिया पर प्रदर्शन कर रहे लोगों से अपना प्रदर्शन आजाद मैदान ले जाने के लिए कहा गया है क्योंकि ब्रिटिश काल की यह धरोहर प्रदर्शन का स्थान नहीं हैं. Also Read - Breaking: दिल्ली हिंसा केस में जेल गए उमर खालिद को मिली जमानत, कोर्ट ने पुलिस के लिए कही ये बात

देशमुख ने कहा कि उन्होंने दिल्ली में जेएनयू परिसर में हुई हिंसा की घटना के मद्देनजर राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से चर्चा की. उन्होंने यहां संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि राज्य पुलिस ने जिस प्रकार से स्थिति को नियंत्रित किया, मुख्यमंत्री उससे संतुष्ट हैं. उन्होंने बताया कि उनके कैबिनेट सहयोगी जितेन्द्र अव्हाड सोमवार को प्रदर्शन स्थल गए और उनसे प्रदर्शन आजाद मैदान ले जाने को कहा. Also Read - भ्रष्टाचार मामला: CBI ने महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख को पूछताछ के लिए बुलाया

जेएनयू हमला: गेट वे ऑफ इंडिया पर रातभर चला प्रदर्शन, पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को उठाकर आजाद मैदान भेजा Also Read - सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की महाराष्ट्र सरकार और अनिल देशमुख की याचिकाएं, जारी रहेगी सीबीआई जांच

गौरतलब है कि आजाद मैदान गेट वे ऑफ इंडिया से महज तीन किलोमीटर दूर है और देश की आर्थिक राजधानी में प्रदर्शन और रैलियों के लिए निर्दिष्ट स्थान है.